Amla tea: स्वाद में खट्टे लेकिन औषधीय गुणों से भरपूर आंवलेे की चाय का रामबाण से कम नहीं है। आंवले की पत्तियों की चाय डायबिटीज से लेकर मोटापा कम करने में मददगार होती है। हम आपको बताते हैं कि आंवले की पत्तियों की चाय बनाने का तरीका क्या है ? This tea removes diseases with lethargy

आंवले की चाय बनाने की विधि

एक पैन में डेढ़ कप पानी उबालें। फिर इसमें 1 चम्मच आंवला पाउडर, 1/4सौठ पावडर, 2-3 पुदीने की ताजी पत्तियां डालकर कम से कम 2 मिनट तक उबालें। जब चाय अच्छी तरह पक जाए तो इसे गैस से उतार लें। अब इसे छानकर शुद्व पुराना गुड मिलाकर चाय की तरह पिएं।

डायबिटीज में फायदेमंद

Amla tea: फाइबर से भरपूर आंवला की चाय खून में शुगर को क्रमिक या धीरे-धीरे रिलीज करती है। इससे शुगर लेवल कंट्रोल रहता है, जो डायबिटीज मरीजों के लिए फायदेमंद है। वहीं, रोजाना इसका सेवन टाइप-2 डायबिटीज नहीं होने देता। This tea removes diseases with lethargy

इम्यूनिटी बढ़ाए

Amla tea: एंटीआक्सिडेंट से भरपूर रोजाना 1 कप आंवला की चाय पीने से इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। इससे ना सिर्फ आप कोरोना वायरस से बचे रहेंगे बल्कि यह मानसून में होने वाली बैक्टीरियल व वायरल बीमारियों से भी बचाव करेगा। इस चाय का सेवन मानसून में होने वाली सर्दी-खांसी, जुकाम व गले में खराश से भी राहत देता है। साथ ही इसका सेवन वायरल फीवर में भी फायदेमंद है।

आंखों के लिए फायदेमंद

Amla tea: आंवला की चाय मोतियाबिंद, कलर ब्लाइंडनेस, ड्राई आईज सिंड्रोम या कमजोर नजर वालों के भी गुणकारी है। इसके अलावा इससे मानसून में होने वाली एलर्जी की समस्या भी नहीं होती। इसमें मौजूद एंटी-बैक्टीरियल व एंटी-इंफ्लामेंटरी गुण फंगल व बैक्टीरियल इंफैक्शन को दूर करने में मदद करते हैं। This tea removes diseases with lethargy

बॉडी को करे डिटॉक्स

Amla tea: यह शरीर में मौजूद विषैले टॉक्सिन को बाहर निकालती है, जिससे बॉडी डिटॉक्स होती है। इससे आप गंभीर बीमारियों से बचे रहते हैं। इस चाय का सेवन करने से डाइजेशन सिस्टम भी सही रहता है, जिससे आप कब्ज, एसिडिटी, भूख ना लगना, पेट में इंफेक्शन व दर्द से बचे रहते हैं। This tea removes diseases with lethargy

दिल को रखे स्वस्थ

Amla tea: इससे ब्लड सर्कुलेशन व कोलेस्ट्रॉल लेवल सही रहता है, जिससे आप दिल की कई बीमारियों से बचे रहते हैं। साथ ही इससे खून का थक्का नहीं बनता, जिससे हार्ट अटैक का खतरा कम होता है। इससे तनाव, एंग्जायटी और डिप्रेशन जैसी मानसिक परेशानियां दूर रहती है। साथ ही इससे मूड़ भी बेहतर होता है और दिनभर शरीर में एनर्जी भी बनी रहती है। यह शरीर में मौजूद कोशिकाओं को खराब होने से रोकती है, जिससे कैंसर से बचाव होता है। This tea removes diseases with lethargy

Leave a comment

Your email address will not be published.