जयपुर. आपने दस्यु सुंदरियों के बारे में खूब सुना और पढ़ा होगा लेकिन जयपुर पुलिस ने एक ऐसी अपराधी सुंदरी को पकड़ा है, जो लाखों रूपए के आधुनिक औजारों से कारखानों में चोरी करती है और एक बड़े गिरोह की सरगना है।

इस चोरनी के पास ऐसे—ऐसे औजार मिले हैं कि उन्हें देखकर उसे पकड़ने वाली पुलिस टीम ने दांतों तले अंगुली दबा ली। तीस साल की ये चोर सुंदरी बेहद शातिर है और पहली बार पकड़ी गई है। उसके निशाने पर ज्यादातर कारखाने होते हैं लेकिन मौका मिलने पर वह कहीं भी हाथ साफ कर देती है।
जयपुर पुलिस के खोह नागोरियान थाने के पुलिस दल ने जिस तीस वर्षीय ​चोर सुंदरी को पकड़ा है, उसका नाम संतोष सांसी हैं और नागौर जिले के लाड़नूं की रहने वाली है। फिलवक्त वह गिरोह के साथ जयपुर के बाहर स्थि​त कच्ची बस्ती बगराना में रहती है।

पुलिस के अनुसार गिरोह के साथ आटो रिक्शा में निकलने वाली संतोष औद्योगिक क्षेत्रों में सिक्योरिटी गार्डों को चकमा देकर दीवार फांदकर कारखाने में घुसती है और ज्यादातर तांबे की केबल पर हाथ साफ करती है, लेकिन मौका मिलने पर नकदी समेत अन्य सामान भी पार कर देती है। उसके पास केबल काटने के आधुनिक औजार मिले हैं। इसके अलावा नकबजनी का आधुनिक सामान भी उसके पास मिला है।

उधर गुरुवार को ही पुलिस ने जयपुर के आदर्श नगर इलाके में गुरुवार को दो अन्तर्राज्जीय तस्करों को गिरफ्तार कर 424 ग्राम चरस बरामद की। पुलिस के अनुसार हिमांशु उर्फ हनी (26) निवासी व्यास मार्ग राजापार्क जवाहर नगर और गोवर्धन खत्री (25) निवासी ठ-11 जवाहर नगर प्राइवेट व रोडवेज बसों से अवैध मादक जयपुर में ला रहे थे। गुरुवार दोपहर दोनों को 424 ग्राम चरस के साथ पकड़ लिया गया।

पुलिस पूछताछ में पता चला कि दोनों हिमाचल प्रदेश जाकर मनीकरण कस्बे में बस स्टैण्ड के पास चाय की थड़ी पर अज्ञात व्यक्ति से चरस खरीदकर लाते हैं और जयपुर के राजापार्क, वैशाली नगर, श्याम नगर बेचते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.