प्रधानमंत्री ने कहा

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि भारतीय वैज्ञानिकों को कोविड-19 का टीका विकसित करने में सफलता का पूरा भरोसा है और यह कुछ सप्ताह में तैयार हो सकता है। कोरोना वायरस पर सर्वदलीय बैठक में कहा कि पहले यह टीका स्वास्थ्य कर्मियों को दिया जाएगा, उसके बाद अग्रिम मोर्चे पर काम कर रहे अन्य कर्मियों को दिया जाएगा।

बैठक में शामिल विभिन्न दलों के प्रतिनिधियों से प्रधानमंत्री ने कहा कि भारतीय वैज्ञानिकों को कोविड-19 का टीका विकसित करने में सफलता का पूरा भरोसा है। विशेषज्ञ मानकर चल रहे हैं कि कोविड-19 के टीके के लिए अब बहुत ज्यादा इंतजार नहीं करना होगा और माना जा रहा है कि यह कुछ सप्ताह में तैयार हो सकता है। जैसे ही वैज्ञानिकों की हरी झंडी मिलेगी भारत में कोविड-19 टीकाकरण का अभियान शुरू कर दिया जाएगा। जहां तक कोविड-19 रोधी टीके की कीमत की बात है तो लोक स्वास्थ्य को शीर्ष प्राथमिकता के साथ ही राज्यों को पूरी तरह से शामिल किया जाएगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जब दुनिया की नजर कम कीमत वाले सबसे सुरक्षित टीके पर है तो यह स्वाभाविक है कि भारत पर सबसे पहले नजर जाए। बैठक में विभिन्न दलों के प्रतिनिधियों ने भी सुझाव दिए। विभिन्न दलों के प्रतिनिधियों से लिखित में भी सुझाव भेजने को कहा गया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि कई बार अफवाहें फैल जाती हैं जो जनहित और राष्ट्रहित के खिलाफ होती हैं। संक्रमण के हालात पर चर्चा के लिए सरकार की ओर से आयोजित दूसरी सर्वदलीय बैठक में मोदी ने कहा कि दुनिया में करीब आठ टीके विकसित किये जा रहे हैं और वे परीक्षण के अलग अलग चरणों में हैं। उनका निर्माण भारत में होगा। भारत के तीन टीके परीक्षण के अलग अलग चरणों में हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.