नई दिल्ली. क्या आपने क्ललास रूम में शादी के मंत्र गूंजते देखे हैं। शायद नहीं देखे होंगे लेकिन आंध्र प्रदेश के पूर्वी गोदावरी ज़िले में राजामहेंद्रवरम जूनियर कॉलेज के क्लासरूम में ऐसी ही एक शादी हुई है जिसका वीडियो वायरल होने पर पुलिस ने बाल विवाह अधिनियम, 2006 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। शादी दो नाबालिगों ने की है।

पुलिस जांच कर रही है कि किसने क्लासरूम में नाबालिग़ों की शादी करवाई। क्लास रूम में 17 साल के नाबालिग़ लड़के ने लड़की को मंगलसूत्र पहना कर मांग भरी और फिर दोनों ने फ़ोटो खिंचाए। वहां मौजूद एक और नाबालिग़ लड़की ने शादी का वीडियो बनाया और अपने दोस्तों को भेजा। कॉलेज प्रशासन ने दोनों को ट्रांसफ़र सर्टिफ़िकेट देकर कॉलेज से बाहर कर दिया है।

आंध्र प्रदेश महिला आयोग के अनुसार दोनों नाबालिग़ क्लासमेट हैं। अभिभावकों ने लड़की को घर आने से मना कर दिया है। लड़की को वन स्टॉप सेंटर में काउन्सलिंग के लिए भेजा गया है। महिला आयोग के सदस्यों ने लड़के के अभिभावकों से भी बात की है और उनकी भी काउन्सलिंग की है। महिला आयोग नाबालिग़ लड़की के रहने की व्यवस्था करेगा।

पुलिस के अनुसार दोनों नाबालिग़ों के साथ ही उनके परिवार वालों का और कॉलेज प्रशासन का बयान लेने के बाद ही मामले से जुड़े लोगों को पुलिस बाल विवाह के नतीजों से अवगत करवाएगी। क्लासरूम में शादी की इस घटना से पता चलता है कि छात्रों में क़ानून को लेकर जानकारी की बहुत कमी है। बाल विवाह, पोक्सो एक्ट और शिक्षा का अधिकार क़ानून को लेकर महिला आयोग कॉलेज और विश्वविद्यालयों में जागरूकता अभियान चला रहा है।

Leave a comment

Your email address will not be published.