नई दिल्ली. भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई स्वमूत्रपान को तमाम बीमारियों से दूर रहने का रामबाण नुस्खा मानते थे। वे यह स्वीकार करने में भी संकोच नहीं करते थे कि वे स्वमूत्रपान करते हैं लेकिन वे स्वमूत्रपान मुंह से करते थे। मोरारजी की तर्ज पर ब्रिटेन में भी एक शख्स पीता है लेकिन वह मुंह से नहीं उसे नाक से पीता है।

असल में लोग स्वयं को स्वस्थ रखने के लिए तरह-तरह के नुस्खे अपनाते हैं। कुछ योग करते हैं तो कुछ जिम जाते हैं। कुछ लोग डाइट प्लान करते हैं तो कुछ हेल्थी खाना खाते हैं। जबकि ब्रिटेन में सैम कोहेन नामक एक शख्स स्वयं को स्वस्थ रखने के लिए पिछले 19 साल से अपना यूरीन पी रहा है।

सैम का कहना है कि जब से वो ऐसा कर रहे हैं तब से उन्हें कोई बीमारी नहीं हुई है। उसका दावा है कि इसकी वजह से उनकी सेक्स लाइफ में भी काफी सुधार हुआ है। सैम नाक से अपना पेशाब पीते हैं। उनका कहना है कि नाक से पेशाब पीने से कभी सर्दी जुकाम नहीं होता है। कभी- कभी वो मुंह से भी यूरीन पी जाते हैं।

मीडिया में आई खबरों के अनुसार सैम जब 22 साल के थे, तबसे उन्होंने अपना यूरीन पीना शुरू कर दिया था। वे अपना यूरीन पीने से जवान महसूस करते हैं। सैम दिन में कई बार मूत्र पीते हैं। जब वो सफर कर रहे होते हैं तो अपना मूत्र कलेक्ट करने के लिए एक कप कैरी करते हैं। प्लेन में यात्रा करते वक्त भी वो ऐसा करते हैं। सैम अब नाक से शराब, फ्रूट जूस भी पीते हैं। उनका कहना है कि ऐसा करने से भूख लगती है और पाचन शक्ति भी बढ़ती है। सैम एक योगा टीचर हैं, ब्रिटेन में वो लोगों को योगा सिखाते हैं।

यहां यह उल्लेखनीय है कि ऐसा ही एक मामला कुछ दिनों पहले सामने आया था। एक शख्स खुद को स्वस्थ रखने के लिए हाथ पर अपने स्पर्म का इंजेक्शन लगा रहा था। कई महीनो तक ऐसा करने से उसके हाथ में दर्द होने लगा और हाथ में सूजन आ गई। मामला इतना सीरियस हो गया कि उसे अस्पताल में भर्ती होना पड़ा।

Leave a comment

Your email address will not be published.