सुनील शर्मा

जयपुर. गाय का दूध बच्चों और बूढों के लिए बहुत ही लाभकारी होता है। इसका दूध बच्चों को जल्दी पच जाता है। गाय का दूध पीने से हमारे शरीर को बीमारियों से लड़ने की शक्ति मिलती है। गाय के दूध का सेवन करने से स्वास्थ्य ठीक रहता है। गाय का दूध पीला होता है और सोने जैसे गुणों से युक्त होता है। केवल गाय के दूध में ही विटामिन ए होता है, किसी अन्य पशु के दूध में नहीं। गाय का दूध कई बीमारियों में औषधि की तरह काम करता है।

आंख की समस्या

अगर आप की आंख में दर्द, जलन, आंख में कोई कीड़ा या तिनका गिर गया हो तो आप गाय के दूध में रुई भिगोकर अपनी आँख पर रखें या दूध की 3 बूंदे अपनी आखोँ में भी डाल सकते हैं। आप को इससे राहत मिलती है।

होठों का कालापन दूर करे

कच्चे दूध का एक चम्मच लें और उसमें थोड़ा सा केसर मिलाकर होठों पर लगाएं। ऐसा करने से होठों का कालापन दूर हो जाता है।

बवासीर और गैस में लाभप्रद

250 ग्राम गाय का दूध, 250 पानी, 5 कालीमिर्च डालकर इसे उबालें। जब पानी सूख जाये तब इसे छान लें। इसमें मिश्री मिलाकर पीने से गैस से राहत मिलती है। गर्म दूध में ईसबगोल मिलाकर पीने से कब्ज की समस्या दूर होती है। जिन लोगों को बवासीर की शिकायत होती है उन्हें भी इसका सेवन करना चाहिए।
दूध में कैल्शियम की मात्रा काफी होती है, जिन लोगों को कैल्शियम की कमी होती है, उन्हें रात को सोने से पहले दूध का सेवन करना चाहिए। इससे हड्डियां मजबूत होती हैं ।

कील मुंहासों से मुक्ति

चेहरे पर कील, मुंहासे, झाई, दाग – धब्बे हटाने के लिए रात को सोने से पहले गाय के दूध को चेहरें पर मलें। फिर आधे घंटे के बाद चेहरा साफ़ पानी से धो लें। ऐसा करने से चेहरा साफ़ हो जाता है।

बच्चों को दस्त लगने पर

गर्म दूध में चुटकी भर दालचीनी का प्रयोग करने से बच्चों को दस्त से राहत मिलती है। बड़ों को दस्त होने पर इसकी मात्रा दुगनी कर दें।

अस्थमा और फेफड़ों के लिए

दूध में पीपल के पत्ते डालकर गर्म करें। फिर इसमें शक्कर मिलाकर इसका सेवन करें। इसको पीने से अस्थमा व फेफडों की बीमारी से राहत मिलती है। इसका इस्तेमाल लगातार कुछ दिनों तक करना चाहिए।

माइग्रेन में उपयोगी

सुबह सूर्य उगने से पहले गर्म दूध के साथ जलेबी या रबड़ी का सेवन करने से आपका आधे सिर का दर्द ठीक हो जाता है।
आधे सिर का दर्द ठीक करने के लिए दूध में बादाम मिलाकर पियें। फिर 2 घंटे तक कुछ न खाएं। बादाम वाला दूध पीने से आधे सिर का दर्द ठीक हो जाता है।

दूध में स्वर्ण का प्रभाव

देसी गाय की पीठ पर मोटा सा हम्प होता है, जिसमें सूर्यकेतु नाड़ी होती हैं, जो सूर्य की किरणों के संपर्क में आते ही अपने दूध में स्वर्ण का प्रभाव छोड़ती हैं। जिस कारण गाय के दूध में स्वर्ण तत्व समा जाते हैं। देसी गाय का दूध पीने से कैंसर का रोग नहीं होगा।

Leave a comment

Your email address will not be published.