संयुक्त राष्ट्र. अगर सरकारों ने सहायता नहीं दी तो कोरोना से त्राहिमाम कर रहे विश्व में भूख से मरने वालों की संख्या बढ़ती चली जाएगी। विश्व खाद्य कार्यक्रम (डब्ल्यूएफपी) के प्रमुख ने यह चेतावनी दी है।
वैश्विक मीडिया के अनुसार डब्ल्यूएफपी के प्रमुख डेविड बेस्ले के अनुसार आपदा और शरणार्थी शिविरों में लाखों भूखे लोगों को भोजन मुहैया करवाया जा रहा है। अगर हालात ये ही रहे तो उनको दिए जा रहे भोजन की आपूर्ति पर संकट बढ़ जाएगा।

बेस्ले ने कहा कि अमेरिकी चुनाव और कोविड-19 महामारी की खबरों की वजह से भूखे लोगों की भोजन की आवश्यकता को ज्यादा तवज्जो नहीं मिली। उन्होंने सुरक्षा परिषद में अप्रैल माह में कही उस बात को याद किया कि विश्व एक ओर तो महामारी के जूझ रहा है और भुखमरी के महामारी में बदल जाने जैसे हालात के मुहाने पर भी खड़ा है। अगर तत्काल कार्रवाई नहीं की गई तो हालात खराब हो सकते हैं।

उन्होंने कहा कि हम इसे 2020 में टालने में सफल रहे क्योंकि वैश्विक नेताओं ने धन दिया, पैकेज दिए लेकिन जो धन 2020 में मिला, वह 2021 में मिलने के आसार नहीं हैं। इसलिए वे नेताओं से इस बारे में लगातार बात कर रहे हैं और उन्हें आने वाले वक्त में खराब होने वाली परिस्थितियों के प्रति आगाह कर रहे हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.