नई दिल्ली. सर्दी परवान पर आते ही कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या से सामान्य सर्दी—जुकाम के मरीजों में भारी डर बैठ गया है, जबकि चिकित्सकों का कहना है कि सामान्य फ्लू, एलर्जी और जुकाम को कोरोना नहीं समझना चाहिए। चिकित्सकों के मुताबिक कोल्ड, फ्लू, सीजनल एलर्जी और कोरोना संक्रमण के लक्षणों में बड़ा अंतर होता है।

ये हैं कोरोना के लक्षण

बुखार आना और सर्दी लगना, खांसी होना (यह खांसी मुख्य रूप से सूखी होती है। यानी इसमें कफ नहीं आता है),सांस लेने में समस्या और सांस सामान्य से छोटी होना, कभी-कभी बहुत अधिक थकान महसूस होना, कभी-कभी सिर दर्द या तेज बदनदर्द होना, गले में खराश और कुछ निगलने में दिक्कत होना कोरोना के मुख्य लक्षण हैं।

सर्दी जुकाम के ये हैं संकेत

सर्दी लगने पर शरीर आमतौर पर खुद उसे नियंत्रित कर लेता है, लेकिन इसमें 7 से 10 दिन का समय लग जाता है। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ानेवाली चीजें खाएं। सर्दी जुकाम के लक्षणों में नाक बहना या नाक का बंद होना, हल्की खांसी होना, हल्की थकान, छींके आना, आंखों से पानी आना, गले में सूजन या खराश होना, कभी-कभी सिरदर्द होना मुख्य है।

बुखार आ रहा है तो हो सकता है फ्लू

फ्लू के लक्षणों में बुखार आना और ठंड लगना, आमतौर पर सूखी खांसी होना, हर समय थकान रहना, शरीर में लगातार दर्द रहना, नाक बंद रहना या लगातार नाक बहना, गले में खराश और दर्द, डायरिया प्रमुख है। इसके अलावा बदलते मौसम के कारण होनेवाली एलर्जी में आंख, नाक, कान में खुजली होती रहती है, गले में खराश हो जाती है और साइनस की समस्या बढ़ जाती है। इसके अन्य लक्षणों में थकान, खांसी, छीकें आना, नाक बहना या नाक का बंद होना, आंखों से पानी आना, सिरदर्द रहना और
सांस छोटी होना मुख्य है।

Leave a comment

Your email address will not be published.