जयपुर. इतिहास के सबसे क्रूर मुगल शासकों में से एक औरंगजेब इंसानों पर ही नहीं पशुओं पर भी जुल्म करता था। उसके शासनकाल में भारत की यात्रा पर आए एक विदेशी यात्री ने उसके तमाम क्रूर कारनामों को अपनी पुस्तक में दर्ज किया है। यात्री ने लिखा है कि औरंगजेब को जब भी शेर के शिकार की सनक चढ़ती थी, तब अफगानिस्तान समेत भारत के अफीम उत्पादक इलाकों से कई मन अफीम मंगाकर उसे गधों को खिलाता था।

खास औजार से ठूंसी जाती थी अफीम

औरंगजेब की इस सनक को उस दौर में भारत की यात्रा पर आए फ्रांसीसी यात्री बर्नियर ने अपनी पुस्तक बर्नियर की भारत यात्रा में दर्ज किया है। बर्नियर के अनुसार औरंगजेब के शेर के शिकार पर निकलने से पहले एक बड़ा लवाजमा उस जंगल की ओर कूच करता जहां बड़ी संख्या में शेर पाए जाते। लवाजमे के साथ कई दर्जन स्वस्थ गधे भी होते थे। बर्नियर ने लिखा है कि जब उसे पहली बार औरंगजेब के शिकार लवाजमे के साथ जाने का अवसर मिला तो वह यह देखकर हैरान रह गया कि बादशाह के कर्मचारी शेर को हांका लगाने से पहले गधों के मुंह में लकड़ी के एक खास औजार से अफीम ठूंस रहे थे। लगभग एक दर्जन से अधिक गधों के गले तक अफीम भरकर वे उनका मुंह बांध रहे थे।

गधे को खाते ही नशे के असर से लुढ़क जाता शेर

आश्चर्यचकित बर्नियर ने कर्मचारियों से जब इसका कारण पूछा तो उत्तर सुनकर उसके रोंगटे खड़े हो गए। कर्मचारियों ने बताया कि इन ​गधों को उस इलाके में शिकार के तौर पर बांधा जाएगा जहां शेर की आमद-रफ्त रहती है। चूंकि गधा शेर का शिकार है, इसलिए वह पहली नजर में ही उसे मार देगा। मारे गए गधे को शेर जैसे ही खाएगा, उसे गधे के पेट में ठूंसी गई अफीम का नशा चढ़ने लगेगा। शेर के गफलत भरी अवस्था में पहुंच जाने के बाद बादशाह उसका शिकार आराम से कर लेगा।

सुरक्षा के लिए लोहे का जाल भी लगाते थे कारिंदे

बर्नियर ने दर्ज किया है कि कर्मचारियों ने जिस तरह बताया, उसी तरीके से सब कुछ घटित हुआ। शेर ने अफीम खाए हुए एक गधे को मारकर खा लिया लेकिन कुछ देर बाद ही वह अफीम के नशे में धुत होकर वहीं लेट गया। कर्मचारियों को जब पूरी तरह तसल्ली हो गई, तब बादशाह को बुलाया गया और उसने भाले से शेर का काम तमाम कर दिया। शेर तक पहुंचने से पहले कर्मचारियों ने बादशाह की सुरक्षा के लिए एक जाल बादशाह और शेर के बीच लोहे का एक जाल भी रखा ताकि अगर गलती से शेर चैतन्य होकर हमला करने की कोशिश करे तो बादशाह तक नहीं पहुंचे।

Leave a comment

Your email address will not be published.