चीनी वैज्ञानिकों का दावा

नई दिल्ली. चीनी वैज्ञानिकों ने एक हास्यास्पद दावा किया है कि कोरोना वायरस भारत से दुनिया भर में फैला है। चीनी वैज्ञानिकों के एक दल ने यह दावा किया है कि कोरोना वायरस पहली बार भारत से निकला।

गर्मियों में पैदा हुआ, सर्दियों में वुहान पहुंचा

ब्रिटिश अख़बार डेली मेल की ख़बर के मुताबिक़ चीनी ऐकेडमी ऑफ़ साइंसेज़ के वैज्ञानिकों की टीम का कहना है कि कोरोना वायरस संभवत: 2019 की गर्मियों में भारत में पैदा हुआ था। चीनी वैज्ञानिकों का दावा है कि कोरोना वायरस जानवरों से होकर गंदे पानी के ज़रिए इंसानों में पहुंचा और वहां से इसने चीन के वुहान तक की यात्रा की। वुहान में ही इसकी पहचान हुई।

युवा आबादी झेल गई थी संक्रमण

चीनी वैज्ञानिकों के मुताबिक भारत की लचर स्वास्थ्य व्यवस्था और युवा आबादी के कारण कोरोना वायरस कई महीनों तक बिना पकड़ में आए लोगों को संक्रमित करता रहा। हालांकि दूसरे देशों के वैज्ञानिकों ने चीन दावे को ग़लत बताया है।

ब्रिटेन की ग्लास्गो यूनिवर्सिटी के विशेषज्ञ डेविड रॉबर्ट्सन ने चीनी वैज्ञानिकों के शोध को त्रुटिपूर्ण बताया है और यह कोरोना वायरस के बारे में जानकारी में कोई इज़ाफ़ा नहीं करता।

उधर विश्व स्वास्थ्य संगठन चीन में कोरोना वायरस के स्रोत का पता लगाने की कोशिश कर रहा है। संगठन ने इसके लिए अपना एक जांच दल चीन भेजा है। कोरोना वायरस संक्रमण का पहला मामला पिछले साल दिसंबर में चीन के वुहान प्रांत में सामने आया था।

Leave a comment

Your email address will not be published.