नई दिल्ली. बिहार की 243 सीटों पर शनिवार को मतदान समाप्त होते ही न्यूज चैनल और चुनावी पंडित जिस एक्जिट पोल के साथ नमूदार हुए हैं, उससे लगता है कि चुनावी बाजी तेजस्वी के नेतृत्व वाले महागठबंधन के हाथ रहने वाली है। चुनाव नतीजे 10 नवंबर को आएंगे। ज़्यादातर एग्ज़िट पोल किसी एक पार्टी को पूर्ण बहुमत देते नज़र नहीं आ रहे हैं। एग्ज़िट पोल के आंकड़े कड़े संघर्ष की ओर इशारा कर रहे हैं।

टाइम्स नाउ-सी वोटर ने एनडीए को 116 सीटें मिलने का अनुमान लगाया है। इसने महागठबंधन को 120 सीटें और एलजेपी को 1 सीट मिलने का अनुमान लगाया गया है। रिपब्लिक-जन की बात के एग्ज़िट पोल के मुताबिक़, एनडीए को 91-117, महागठबंधन को 118-138 और एलजेपी को 5-8 सीटें मिलने का अनुमान है।

टीवी-9 भारतवर्ष का अनुमान है कि एनडीए को 110-120, महागठबंधन को 115-125 और एलजेपी को 3-5 सीटें मिलेंगी। आजतक-एक्सिस माई इंडिया और टूडेज़ चाणक्य के मुताबिक महागठबंधन से बहुमत हासिल कर सकता है। महागठबंधन को 139-161 सीटें मिल सकती हैं और एनडीए के खाते में सिर्फ 69-91 सीटें आने का अनुमान है।

महागठबंधन को 180 सीट

टूडेज़ चाणक्य ने महागठबंधन को 180 सीटें मिलने का अनुमान लगाया है। उसने जेडीयू को सिर्फ़ 55 सीट दी हैं। तीसरे चरण में 55 फ़ीसदी से अधिक मतदान हुआ है। तीसरे चरण में ताज़ा आंकड़ों के मुताबिक 55.22 प्रतिशत वोटिंग हुई। 28 अक्टूबर को हुए पहले चरण के चुनाव में 55.68 प्रतिशत और 3 नवंबर को हुए दूसरे चरण में 55.70 प्रतिशत वोटिंग हुई थी। बिहार विधानसभा चुनाव प्रचार अभियान सात सितंबर से शुरू हुआ था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चार दिनों में अलग-अलग स्थानों पर 12 जनसभाएँ की। महागठबंधन के तेजस्वी यादव ने अकेले 251 से भी ज़्यादा चुनावी सभाओं को संबोधित किया।

Leave a comment

Your email address will not be published.