मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का सवाल

जयपुर. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी राजनीतिक रूप से बेहद शक्तिशाली हैं और उनकी कही गई बातों का जवाब देने के लिए मैदान में उतरने वाली मोदी सरकार के मंत्रियों की फौज इसका प्रमाण है।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का ट्विटर पर किया गया ये दावा भले ही अधिकतर के गले नहीं उतरे लेकिन इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि राजनीतिक विमर्श में उन्हें गम्भीरता से नहीं लिए जाने के संकेत देने वाली भाजपा उनके बयानों का जवाब जरूर देती है।

केरल के उल्लेख ने दिए संकेत

हालांकि भाजपा का शीर्ष नेतृत्व राहुल का नाम लेना पसंद नहीं करता लेकिन वह भी नाम लिए बिना उन पर आए दिन राजनीतिक हमले करता है। एक दिन पूर्व प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी किसान आंदोलन के पीछे उनका हाथ होने का अंदेशा जताते हुए निशाना साधा था कि केरल में मंडी नहीं है तो किसान वहां जाकर आंदोलन क्यों नहीं करते! ज्ञात रहे कि राहुल केरल से सांसद हैं।

चुनावी सफलताओं से कोसों दूर राहुल की खिल्ली उड़ाने में आगे रहने वाली भाजपा आखिर उनके बयानों का जवाब देने के लिए केन्द्रीय मंत्रियों की फौज क्यों उतारती है! क्यों राहुल के कुछ भी बोलते ही मंत्रियों की फौज उन पर टूट पड़ती है? इस सवाल के जवाब में राजनीतिक जानकार कहते हैं कि मोदी सरकार के छह साल से अधिक के कार्यकाल में अधिकतर विपक्षी नेताओं ने मुंह बंद कर लिए हैं।

विपक्ष के जिंदा होने का प्रमाण हैं राहुल के बयान

कभी-कभार कोई मुंह खोलता भी है तो उसके कहे पर भाजपा ध्यान तक नहीं देती। सरकारी एजेंसियों के आतंक से डरे ज्यादातर विपक्षी नेता मौन रहने में ही भलाई समझते हैं। ऐसे में राहुल के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर लगातार हमले निस्तेज हो चुके विपक्ष के अस्तित्व में होने का संकेत देते रहते हैं।

सच्चाई से मुंह नहीं मोड़ पाता नेतृत्व

इन संकेतों से पार्टी हमेशा आशंकित रहती है कि सरकार की विभिन्न नीतियों से परेशान देश उनकी बातों को गम्भीरता से लेने नहीं लग जाए। वैसे भी कोरोना से लेकर चीनी हमले तक राहुल कई ऐसी बातें बोल चुके हैं, जो कालांतर में सही सिद्ध हुई हैं। इस सच्चाई से भाजपा नेतृत्व अकेले में मुंह नहीं मोड़ पाता है। इसी के चलते भाजपा उनकी कही गई तमाम बातों का उत्तर देने के लिए मंत्रियों की फौज को हमेशा तैयार रखती है और जैसे ही राहुल कुछ बोलते हैं वे मैदान में आकर उनकी खिल्ली उड़ाने लगते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.