नई दिल्ली. मध्य प्रदेश के उमरिया जिले में रूह कंपा देने वाली हैवानियत सामने आई है। इस जिले की एक किशोरी के साथ दो युवकों ने सामूहिक बलात्कार किया। फिर एक ढाबे पर बंधक बनाकर अन्य साथियों से बलात्कार करवाया। बाद में उसे एक ट्रक में बिठा दिया। मजबूरी का फायदा उठाकर ट्रक चालक ने भी उसकी अस्मत लूट ली और एक बैरियर पर छोड़ गया। बैरियर से घर जाने के लिए दूसरे ट्रक में बैठी किशोरी की इज्जत उस ट्रक चालक ने भी लूट ली। पुलिस ने मामला दर्ज होते ही बलात्कार के आठ आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है और एक की तलाश जारी है।

एक किशोरी के साथ हैवानियत की रूह कंपा देने वाली वारदात सामने आई है। किशोरी को पहले मनचलों ने अपनी हवस का शिकार बनाया, अपनों को सौंपा और इन दरिंदों के चंगुल से छूटी किशोरी ने जिससे मदद की उम्मीद की, उसी ने अपनी हवस का शिकार बना डाला।

इस मामले में आठ लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस के अनुसार किशोरी 11 जनवरी को घर से सब्जी मंडी गई। इसी दौरान उसकी दो युवकों से मुलाकात हुई, यह युवक किशोरी को बहला-फुसला कर घुमाने भरौला और छटन के जंगल की ओर ले गए और उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया। किशोरी को इसके बाद एक ढाबे में बंधक बनाकर रखा। जहां दोनों आरोपियों ने अपने अन्य साथियों से भी सामूहिक बलात्कार कराया।

लड़की ने आरोपियों से मिन्नतें की तो उसे कटनी जाने के लिए ट्रक में बैठा दिया। ट्रक चालक ने भी उसे अपनी हवस का शिकार बनाया, फिर उसे विलायत कला-बड़वारा के टोल बेरियर पर छोड़ दिया। यहां से किशोरी ने उमरिया जाने के लिए ट्रक का सहारा लिया तो इस ट्रक के चालक ने भी उसकी बेबसी का लाभ उठाया और हवस का शिकार बनाया और उसे उमरिया छोड़कर भाग गया। कुल मिलाकर किशोरी को 9 लोगो ने अपनी हवस का शिकार बनाया।

पुलिस को किशोरी ने बताया कि उसके साथ आकाश नामक युवक ने चार जनवरी को बलात्कार किया था। आकाश के कई साथी भी थे जिन्होंने उससे सामूहिक बलात्कार किया था।
उमरिया के पुलिस अधीक्षक विकास शाहवाल के अनुसार दुष्कर्म के दो प्रकरण दर्ज कर आठ आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। एक की तलाश जारी है।

Leave a comment

Your email address will not be published.