जयपुर/नई दिल्ली. return of cold wave: शीतलहर वापस आ गई है। इससे उत्तर पश्चिमी भारत के कई इलाकों में न्यूनतम तापमान गिर गया है। उत्तर पश्चिम भारत के कई शहरों में न्यूनतम तापमान में गिरावट दर्ज की गई। चूरू में 2.1 डिग्री सेल्सियस, सामान्य से 4.9 डिग्री नीचे दर्ज किया गया। उदयपुर में 2.6 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया जो सामान्य से 5.4 डिग्री कम था। कोटा में 6.5 डिग्री सेल्सियस, सामान्य से 6.5 डिग्री नीचे, गुना में 4.5 डिग्री सेल्सियस, सामान्य से 5.5 डिग्री नीचे, दिल्ली में न्यूनतम तापमान 5.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से 3.4 डिग्री कम था और अधिकतम तापमान 21.5 डिग्री दर्ज किया गया जो सामान्य से 1 डिग्री कम है।

अंबाला से अगरतला तक कोहरे की चादर

ठंड के साथ-साथ कोहरे का कहर भी देखने को मिल रहा है सुबह 5.30 बजे अंबाला, लखनऊ, वाराणसी में दृश्यता 25 मीटर से कम थी। बहराइच, सुल्तानपुर, पटना, गया, भागलपुर, पूर्णिया प्रत्येक में 50 मीटर से कम दृश्यता देखी गई। पटियाला, बरेली, गोरखपुर, कैलाशहर, अगरतला में 200 मीटर की दूरी से कुछ भी देख पाना मुश्किल हो रहा था और दिल्ली के पालम और सफदरजंग में 500 मीटर तक दृश्यता थी।

इसी तरह सताती रहेगी सर्दी

Meteorological Department predicts return of cold wave: मौसम विभाग की भविष्यवाणी है कि एक फरवरी से पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र में एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने की संभावना है। 1 से 3 फरवरी के दौरान मध्यम गरज और बिजली के साथ छिटपुट बारिश या बर्फबारी की संभावना है। सर्दी अगले एक हफ्ते तक इसी तरह सताएगी। अगले 24 घंटों में उत्तर भारत के कई इलाकों में return of cold wave: शीत लहर चलने का अनुमान है।

मैदानी इलाकों में जमेगी बर्फ

गुरुवार सुबह दिल्ली समेत एनसीआर के कई इलाकों में कोहरे की घनी चादर देखने को मिली। कुछ दिनों की राहत के बाद दिल्ली में भीषण सर्दी की फिर से एंट्री हो गई है। सुबह दिल्ली में दृश्ता कम दर्ज की गई। कोहरा इतना घना था कि 10 से 15 मीटर दूर तक भी कुछ देखना मुश्किल था। गुरुवार सुबह दिल्ली का तापमान 5.4 दर्ज किया गया। Meteorological Department predicts return of cold wave: मौसम विभाग ने कहा है कि आज राजधानी का तापमान 4 डिग्री सेल्सियस तक नीचे जा सकता है। अगले 2 से 3 दिन तक सर्दी का ये सितम बरकरार रहेगा। मैदानी इलाकों में भी शीत लहर की संभावना है जिससे तापमान नीचे ही बना रहेगा। ज्ञात रहे कि जब ठंडी हवाएं चलने के बाद तापमान 4 डिग्री तक पहुंच जाता है तो शीत लहर करार दिया जाता है।

Leave a comment

Your email address will not be published.