जयपुर. राजस्थान में खेतडी-झुंझुनूं में तांबा और अजमेर, नागौर, पाली में टंगस्टन के नए भंडारों की खोज केन्द्र सरकार का मिनरल एक्सप्लोरेशन कारपोरेशन करेगा। इसके लिए वह राजस्थान के खनिज विभाग से हाथ मिलाएगा।

यह जानकारी राज्य के खनिज एवं पेट्रोलियम प्रमुख सचिव अजिताभ शर्मा ने दी। उन्होंने बताया कि राज्य में खनिज संपदा के खोज कार्य में मिनरल एक्सप्लोरेशन कारपोरेशन (एमईसीएल) राज्य के खनिज विभाग का सहयोग लेगा। शर्मा के अनुसार एमईसीएल के सीएमडी रंजीत रथ के साथ प्रदेश में खनिज संपदा के आधुनिक तकनीक से खोज कार्य पर चर्चा के दौरान ये सहमति बनी।

प्रमुख सचिव ने बताया कि राजस्थान देश के समृद्ध खनिज संपदा वाले प्रदेशों में से एक है। राष्ट्रीय खनिज खोज न्यास खनिज अनुसंधान में राज्यों को सहयोग करता है। मिनरल एक्सप्लोरेशन कारपोरेशन प्रदेश में खनिज की खोज और ब्लाॅक विकसित करने में सहयोग करेगा।

आधुनिक तकनीक से खोज से क्षेत्र विशेष में खनिज संपदा की उपलब्धता और उसकी संभावित क्वांटिटी का पता चल सकेगा। नए खनिज ब्लाॅक विकसित करके उन्हें नीलाम किया जाएगा। इससे राज्य के खजाने को अधिक राजस्व मिलेगा। एमईसीएल प्रदेश में 15 परियोजना चला रहा है। खनिज खोज कार्य में राज्य का खनिज विभाग पूरा सहयोग करेगा। मिनरल एक्सप्लोरेशन कारपोरेशन के सीएमडी रंजीत रथ के अनुसार केन्द्र सरकार का राष्ट्रीय खनिज खोज न्यास राज्यों में खनिज संपदा खोज के लिए एकमात्र एजेंसी है।

Leave a comment

Your email address will not be published.