ठुकरा दिया सरकार का समिति बनाने का प्रस्ताव

नई दिल्ली. पिछले छह दिन से दिल्ली को घेरकर बैठे किसानों ने मोदी सरकार का वह प्रस्ताव ठुकरा दिया है, जिसके तहत पूरे मामले पर विचार के लिए एक समिति बनाई जानी थी।  किसान संगठनों ने सरकार के प्रस्ताव को ठुकराते हुए आंदोलन जारी रखने का संकल्प व्यक्त किया है।

सरकार के साथ करीब साढे तीन घंटे चली बैठक के बाद कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बताया कि सरकार और किसान संगठनों के बीच अच्छी बातचीत हुई। सरकार ने किसानों की समस्याओं के समाधान के लिए एक समिति बनाने का सुझाव दिया था लेकिन इस पर आम सहमति नहीं बन पाई। बैठक में खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री पीयूष गोयल तथा वाणिज्य राज्यमंत्री सोम प्रकाश तथा 35 किसान नेताओं ने हिस्सा लिया।

किसानों के प्रतिनिधियों ने बताया कि सरकार शांति चाहती है तो किसानों की समस्याओं का समाधान करे। किसान अपना आंदोलन जारी रखेंगे। इस बीच महाराष्ट्र तथा कई अन्य राज्यों के किसान प्रतिनिधियों ने राष्ट्रीय राजधानी में आकर आंदोलन के प्रति अपनी एकजुटता व्यक्त की।

दो बार्डर से यातायात अब भी बंद

इधर किसानों के प्रदर्शन के मद्देजर दिल्ली को हरियाणा से जोड़ने वाली सिंघु तथा टिकरी सीमा फिलहाल बंद रहेंगी। दिल्ली यातायात पुलिस ने वाहन चालकों को दूसरे मार्ग अपनाने की सलाह दी है।  पुलिस के अनुसार झरौदा, धंसा, दौराला, कापसहेड़ा, रजोकरी राजमार्ग संख्या 8, बिजवासन/बजघेड़ा,  पालम विहार तथा डूंडाहेड़ा सीमा पर वाहनों का परिचालन जारी रहेगा।

सिंघु सीमा अब भी यातायात के लिए दोनों तरफ से बंद है। यातायात को मुकरबा चौक और जीटी करनाल रोड की ओर परिवर्तित किया गया है। वाहन चालक सिग्नेचर ब्रिज से रोहिणी और रोहिणी से सिग्नेचर ब्रिज तक बाहरी रिंग रोड, जीटी करनाल रोड, एनएच 44 और सिंघु सीमा तक पर जाने से बचें।

Leave a comment

Your email address will not be published.