नई दिल्ली. फरार खालिस्तानी आतंककारी गुरजीत सिंह निज्जर को इंदिरा राष्ट्रीय हवाईअड्डे पर एनआईए ने गिरफ्तार किया है। वह साइप्रस में छिपा हुआ था। निज्जर को पुणे में एक खालिस्तानी मॉड्यूल से जुड़े मामले में पकड़ा गया है।

एनआईए के अनुसार पुणे मामले के आरोपी हरपाल सिंह के खिलाफ पिछले साल 10 जनवरी को मामला दर्ज किया गया था। जांच के दौरान पता चला कि इस मामले में मुख्य साजिशकर्ता निज्जर है। निज्जर, हरपाल सिंह और मोइन खान सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सक्रिय थे और खालिस्तान के गठन के उद्देश्य के लिए सिख आतंकवाद को पुनर्जीवित करने के लिए आपराधिक साजिश रच रहे थे। हरपाल सिंह के खिलाफ शस्त्र अधिनियम, महाराष्ट्र पुलिस अधिनियम और गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया था। सिंह और मोइन खान योजना का हिस्सा थे, जिसमें निज्जर मुख्य साजिशकर्ता रहा था। तीनों ने सोशल मीडिया पर तस्वीरें पोस्ट की, वीडियो विज्ञापन में जगत्तार सिंह हवारा (पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह की हत्या का दोषी) सहित अन्य आतंकवादियों का महिमामंडन किया।

निज्जर ने भारत में मुसलमानों और सिखों पर कथित अत्याचारों की चर्चा कर खान को उकसाया और उसे अलग खालिस्तान राज्य के लिए काम करने के लिए राजी किया। साजिश के तहत निज्जर ने खान को 2018 में एक पिस्तौल और गोला बारूद खरीदने और अपने नापाक मंसूबों को अंजाम देने का निर्देश दिया। एनआईए की विशेष अदालत में पिछले साल 23 मई को निज्जर, सिंह, खान और सुंदरपाल पाराशर के खिलाफ आरोपपत्र दायर किया गया था। निज्जर 19 अक्टूबर, 2017 को साइप्रस भाग गया था। उसके खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी किया गया था। ट्रांजिट वारंट के साथ उसे आगे की जांच के लिए मुंबई ले जाया जाएगा।

Leave a comment

Your email address will not be published.