दिल्ली चलो मार्च का समर्थन

नई दिल्ली. कांग्रेस ने किसानों के दिल्ली चलो मार्च का समर्थन किया है। पार्टी ने कृषकों की आवाज सुनने के बजाय उन पर सर्दियों में पानी की बौछार और लाठियां भांजने को केन्द्र की भाजपा सरकार की तानाशाही बताया है। पार्टी ने पूछा कि दिल्ली दरबार के लिए किसान कब से खतरा हो गए?

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने किसानों पर पानी की बौछार मारे जाने का एक वीडियो साझा करते हुए ट्विटर पर कहा कि किसान की आवाज सुनने की बजाय भारी ठंड में पानी की बौछार मारी जा रही है। किसानों से सबकुछ छीना जा रहा है और पूंजीपतियों को थाल में सजा कर बैंक, कर्जमाफी, एयरपोर्ट रेलवे स्टेशन बांटे जा रहे हैं। भीषण ठंड के बीच अपनी जायज़ मांगों को लेकर गांधीवादी तरीक़े से दिल्ली आ रहे किसानों को ज़बरन रोकना और पानी की तेज बौछार मारना मोदी-खट्टर सरकार की तानाशाही का जीवंत प्रमाण है। खेती बिलों के विरोध को लेकर कांग्रेस का पूर्ण समर्थन किसानों के साथ है।

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता ने ट्वीट किया कि आज देश का मज़दूर हड़ताल पर है, बैंक कर्मी हड़ताल पर हैं, अन्नदाता हड़ताल पर है, बेरोज़गार युवा हड़ताल पर है, क्या मोदी सरकार को देशवासियों की परवाह है? देश फ़ैसला करे!

कांग्रेस ने तंज किया है कि काश, इतनी चौकसी चीन सीमा पर की होती तो चीन देश की सरज़मीं पर घुसपैठ करने का दुस्साहस नही करता। सरकार की प्राथमिकताएं सदा ग़लत ही क्यों होती हैं? ज्ञात रहे कि पंजाब के बहुत सारे किसान केन्द्री कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली चलो मार्च के तहत राष्ट्रीय राजधानी पहुंचने की कोशिश में हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.