प्रधानमंत्री का विपक्षी दलों पर हमला

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लोकतंत्र को खतरे में बताने वाले विपक्षी दलों पर करारा हमला किया है। उन्होंने कहा कि पुद्दुचेरी में 2011 से स्थानीय निकायों के चुनाव नहीं हुए हैं और वहां सत्ता पर काबिज दल को इसकी कोई परवाह नहीं है अलबत्ता दिल्ली में वे मुझे कोसते रहते हैं, अपशब्द कहते हैं और लोकतंत्र को खतरे में बताते हैं।

प्रधानमंत्री शनिवार को जम्मू-कश्मीर की जनता के लिए स्वास्थ्य योजना ’सेहत’ का उद्घाटन करने के बाद वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आयुष्मान योजना का लाभ केवल कुछ लाख लोगों को मिल रहा था लेकिन सेहत योजना का लाभ जम्मू-कश्मीर के हरेक नागरिक को मिलेगा।

मोदी ने कहा कि देश में नकारात्मक सोच के लिए कोई जगह नहीं है। देश का कोई भी राज्य विकास से वंचित नहीं रहेगा। जम्मू-कश्मीर में युवाओं को हजारों नौकरियों के अवसर देने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं। एक तरफ सरकारी नौकरियां निकाली जा रही हैं तो दूसरी तरफ स्वरोजगार योजनाओं का लाभ भी दिया जा रहा है। बड़े अस्पताल और आईआईटी-आईआईएम जैसी संस्थाएं स्थापित की जाएंगी।

कश्मीर में सेब उत्पादकों की परेशानियों को दूर करने के लिए कदम उठाए गए हैं। किसानों के खाते में सीधे पैसे डाले गए। जम्मू-कश्मीर में बासमती से लेकर किसी चीज की कमी नहीं है। हम जम्मू-कश्मीर में सरकार का हिस्सा थे इसके बावजूद हमने उस सरकार का साथ छोड़ दिया क्योंकि हम पंचायती राज की संस्थाओं को मजबूत करना चाहते थे। हमने जनता के लिए कुर्सी छोड़ दी।

इस योजना से जम्मू-कश्मीर में उन एक करोड़ लोगों को लाभ मिलेगा जो आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अधीन नहीं आते हैं। ये योजना आयुष्मान भारत की तर्ज पर ही होगी। इस योजना के तहत पांच लाख रुपये का बीमा किया जाएगा।

Leave a comment

Your email address will not be published.