नई दिल्ली. कोरोना से निपटने के लिए देश की एक निजी कम्पनी ने कोरोना जांच की नई किट जारी की है। कंपनी का दावा है कि नई ​किट अधिक सरल और सक्षम है।
ये किट टाटा मेडिकल एण्ड डायग्नॉस्टिक्स लिमिटेड (टाटाएमडी) ने बनाई है। किट वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद अर्थात इंस्टीट्यूट आफ जिनोमिक्स एण्ड इटग्रेटिव बॉयलॉजी की भागीदारी में विकसित किया गया है। किट को भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद और भारत के दवा महानियंत्रक (डीसीजीआई) की मंजूरी मिल चुकी है।
परीक्षण किट जल्द ही देशभर में नैदानिक केन्द्रों और अस्पतालों में उपलब्ध होगी। कम्पनी देशभर में अस्पतालों की श्रृंखला, नैदानिक कंपनियों और शोधशालाओं के साथ बातचीत कर रही है और उनके साथ भागीदारी को तैयार है। कंपनी चेन्नई कारखाने से प्रतिमाह 10 लाख जांच किट का उत्पादन करने की क्षमता के साथ तैयार है।
कम्पनी के सीईओ गिरीश कृष्णमूर्ति ने मीडिया से कहा कि हमने समूचे परीक्षण के लिये निदान उपलब्ध कराया है। परीक्षण को अधिक विश्वसनीय और बेहतर बनाया है। ये बेहतर उपलब्धता और पहुंच सुनिश्चित करेगा। इसे भारत में ही विकसित किया गया है।

Leave a comment

Your email address will not be published.