जयपुर. जयपुर के हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ.राजीव गुप्ता को स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी ने विश्व के सबसे प्रभावी चिकित्सकों की वैश्विक सूची में 108 वां स्थान प्रदान किया है। यूनिवर्सिटी ने भारत में उन्हें पहले स्थान पर रखा है।

डॉ. राजीव गुप्ता ईटनरल हार्ट केयर सेन्टर (ईएचसीसी) अस्पताल जयपुर में कार्यरत है और हार्ट फेडरेशन जिनेवा बोर्ड के सदस्य है। वे कई विश्वविद्यालयों में पढ़ाते भी हैं। डॉ. राजीव गुप्ता 40 वर्षों से हृदय रोग विज्ञान और हदय रोग निवारण अनुसंधान में जुटे हुए हैं। उनके एक हजार से अधिक लेख विभिन्न मेडिकल जर्नलों में प्रकाशित किए जा चुके हैं। द जयपुर हार्ट वाच स्टडी के अनुसार डॉ. राजीव गुप्ता ने 1990 की शुरूआत में हृदय रोग महामारी विज्ञान का अध्ययन किया था। डॉ. गुप्ता ने अधिकांश शोध राजस्थान विश्वविद्यालय, स्थानीय मेडिकल कालेजों, सेंट जान मेडिकल कालेज बैंगलूरू एम्स नई दिल्ली और आई.आई.टी में किए हैं।

डॉ गुप्ता ने देश में हृदय रोग महामारी में उच्च रक्तचाप, तनाव और मधुमेह जैसे जोखिम कारकों के महत्व की पहचान की है। वे हृदय रोग के जोखिम को प्रभावित करने वाली गरीबी और अशिक्षा जैसे सामाजिक कारकों की भूमिका की पहचान करने वाले देश के पहले चिकित्सक हैं। डा. गुप्ता ने हृदय रोगों के कारगर इलाज पर भी कई शोध किए हैं। उनके शोध कार्यों को इससे पहले भी कई विश्वविद्यालयों तथा मेडिकल क्षेत्र के संस्थानों ने बेहतरीन माना है।

डॉ. राजीव गुप्ता की मैकमास्टर यूनिवर्सिटी एण्ड पापुलेशन हेल्थ रिसर्व इन्स्टीपूट कनाडा, इन्स्टीट्यूट ऑफ हैल्थ मेट्रिक्स, यूनिवर्सिटी ऑफ वाशिंगटन, यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफो्निया सैन फ्रांसिस्को यू.एस.ए. इम्पीरियल कालेज लंदन जैसे वैश्विक विश्वविद्यालयों के साथ लम्बे समप से सहभागिता है।

Leave a comment

Your email address will not be published.