सरकार अगले दो साल तक देगी पीएफ अंशदान

नई दिल्ली. सरकार ने घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देने के इरादे से बुधवार को 10 और क्षेत्रों के लिये 2 लाख करोड़ रुपये मूल्य की उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजनाओं को मंजूरी दे दी।
मंत्रिमंडल की बैठक के बाद सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने यह जानकारी दी। उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना का लाभ रेफ्रीजिरेटर, वाशिंग मशीन जैसे उत्पाद, औषधि, विशेष प्रकार के इस्पात, वाहन, दूरसंचार, कपड़ा, खाद्य उत्पाद, सौर फोटोवोल्टिक और मोबाइल फोन बैटरी जैसे उद्योगों में निवेशकों को मिलेगा।

इधर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आत्मनिर्भर भारत 3.0 पैकेज की घोषणा की। वित्त मंत्री ने 12 योजनाओं की घोषणा की जिसमें रोजगार, इंफ्रास्ट्रक्चर क्षेत्र पर जोर दिया गया है। वित्त मंत्री ने कोविड वैक्सीन पर शोध करने के लिए कोविड सुरक्षा मिशन के तहत 900 करोड़ रुपए देने की घोषणा की है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अर्थव्यवस्था को मजबूती देने के लिए इस साल तीसरे पैकेज की घोषणा की। इससे पहले कोरोना से प्रभावित अर्थव्यवस्था के लिए दो बार विशेष पैकेज की घोषणा की जा चुकी है। आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के तहत संगठित क्षेत्रों में रोजगार के नए अवसर पैदा किए जाएंगे। इसके तहत अभी तक ईपीएफओ में दर्ज न होने वाले कर्मचारियों को भी शामिल किया जाएगा। 15 हजार से कम सैलरी वाले कर्मचारियों को इसमें शामिल किया जाएगा। जिन कर्मचारियों ने मार्च से सितंबर 2020 के बीच रोजगार गंवाया है, उन्हें इस योजना के तहत लाया जाएगा। योजना 1 अक्टूबर से अगले 2 साल के लिए लागू होगी।

Leave a comment

Your email address will not be published.