नई दिल्ली. देश भर में डूब रही कांग्रेस को कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री ने करारा झटका दिया है। पूर्व मुख्यमंत्री कुमारास्वामी ने दावा किया है कि कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाने का जाल उनकी पार्टी के लिए घातक सिद्ध हुआ है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस से हाथ मिलाकर जनता दल (एस) ने जनता का ही भरोसा खो दिया। कुमारस्वामी ने कहा कि वह जाल में फंस गए थे। उन्होंने कहा कि भाजपा ने भी उन्हें इतना बड़ा धोखा नहीं दिया।

कांग्रेस की वजह से खो दिया भरोसा

जनता दल (एस) नेता एच डी कुमारस्वामी ने कहा कि कांग्रेस से हाथ मिलाकर बनाई गई गठबंधन सरकार ने पार्टी को हासिल 12 साल पुराना जनता का भरोसा खो दिया। उधर सिद्धारमैया ने कहा कि कुमारस्वामी झूठ बोलने में माहिर हैं और आंसू बहाना उनके परिवार की पुरानी आदत है। कुमारस्वामी ने मैसूर में कहा कि 2006-07 में राज्य की जनता का जो भरोसा हासिल किया, वह कांग्रेस से हाथ मिलाकर खो दिया।

खामियाजा भुगत रही है पार्टी

कुमारास्वामी ने अफसोस जताया कि उन्हें कांग्रेस से हाथ नहीं मिलना चाहिये था। कांग्रेस ने जद (एस) को भाजपा की ‘बी’ टीम कहकर अभियान चलाया और नतीजा पिता एचडी देवगौड़ा के रुख की वजह से उन्हें गठबंधन सरकार बनानी पड़ी। पार्टी मजबूती खोकर उसका खामियाजा भुगत रही है।देवगौड़ा के चलते जाल में फंस गया था।

गौरतलब है कि 2018 के कर्नाटक विधानसभा चुनाव में जब किसी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला था तो एक-दूसरे के खिलाफ चुनाव लड़ने वाली कांग्रेस और जद (एस) ने गठबंधन सरकार बनाकर कुमारस्वामी को मुख्यमंत्री बनाया था। बाद में आंतरिक मतभेद पैदा होने और कुछ विधायकों की बगावत के चलते गठबंधन सरकार गिर गई। इधर पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने आरोप लगाया कि कुमारस्वामी झूठ बोलने में माहिर हैं। वह हालात के मुताबिक झूठ बोल सकते हैं। जद (एस) को 37 सीटें मिलने के बावजूद उन्हें मुख्यमंत्री बनाना हमारी गलती थी?

Leave a comment

Your email address will not be published.