नई दिल्ली. कोरोना की दूसरी लहर से कंपकंपा रही दिल्ली रोजाना एक लाख कोरोना जांच करेगी।
राजधानी में कोरोना के बढ़ते प्रकोप से निपटने के लिएकेंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने उच्च स्तरीय बैठक बैठक के बाद बताया कि दिल्ली में कोरोना जांच की प्रतिदिन की सीमा को बढ़ाकर एक से डेढ़ लाख किया जायेगा। बैठक में केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री हर्षवर्धन, उपराज्यपाल अनिल बैजल, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन, दिल्ली के मुख्य सचिव विजय देव और अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।
केजरीवाल ने बताया कि केंद्र डीआरडीओ केंद्र पर 750 आईसीयू बेड उपलब्ध करायेगा। गृह मंत्री शाह ने दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए दूसरी बार कमान संभाली। इससे पहले जून में स्थिति को बिगड़ता देख शाह ने अपनी देखरेख में कार्रवाई की थी और कोरोना पर काबू पाया गया था। नवंबर माह में कोरोना राजधानी में फिर बढ़ रहा है। रिकार्ड नये मामलों के साथ वायरस से मरने वालों की संख्या भी काफी तेजी से बढ़ी है।
केजरीवाल ने बैठक के लिये गृह मंत्री का आभार जताते हुए कहा दिल्ली के लोगों के स्वास्थ्य के लिए यह बैठक बहुत जरूरी थी। अक्टूबर के बाद दिल्ली में कोरोना के मामलों में लगातार इजाफा हो रहा है और सभी को मिलकर काम करना जरुरी था। बैठक में प्रदूषण को लेकर कोई चर्चा नहीं की गई। इस पर सोमवार को बैठक होने की उम्मीद है। दिल्ली में पिछले 24 घंटे में वायरस के 3235 नए मामले आए और 95 मरीजों की मौत हुई है। दिल्ली में कोरोना से मरने वालों की कुल संख्या 7614 हो गई है।

Leave a comment

Your email address will not be published.