कार में अकेले व्यक्ति के लिए मास्क लगाना अनिवार्य नहीं फिर भी काट दिया चालान

नई दिल्ली. कोरोना काल में महामारी एक्ट को लूट का साधन बना चुकी पुलिस की कारगुजारी की पोल तब खुल गई जब दिल्ली हाईकोर्ट में एक कारचालक की याचिका पर सुनवाई के दौरान स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय इस बात से मुकर गया कि उसने कार में अकेला व्यक्ति होने पर भी मास्क लगाना अनिवार्य है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने दिल्ली उच्च न्यायालय को सूचित किया है कि कार में अकेले के लिए मास्क पहनने संबंधी कोई भी निर्देश मंत्रालय की ओर से नहीं दिए हैं।

अधिवक्ता सौरभ शर्मा की याचिका पर एक हलफनामे पर सरकार ने खुलासा किया है। मंत्रालय की ओर से न्यायालय को बताया गया कि चूंकि स्वास्थ्य का मसला राज्य का है और प्रथमदृष्टया यह दिल्ली सरकार से संबंधित है। इस आधार पर मंत्रालय ने प्रतिवादियों की सूची से अपना नाम हटाये जाने का न्यायालय से आग्रह किया है। याचिकाकर्ता ने अपनी कार को चलाने के दौरान मास्क नहीं पहनने के कारण 500 रूपये का चालान किये जाने को न्यायालय में चुनौती दी थी। उन्होंने सार्वजनिक रूप से मानसिक तौर पर प्रताड़ित किये जाने के लिए 10 लाख रूपयों का मुआवजा भी मांगा है।

याचिका में कहा गया है कि महामारी रोग अधिनियम के तहत सभी सार्वजनिक स्थल/कार्यस्थलों पर मास्क पहनने संबंधी दिशानिर्देशों का उल्लंघन किये जाने पर अधिकारी पहली बार 500 रूपये और दूसरी बार ऐसा किये जाने पर 1000 रूपये का जुर्माना कर सकते हैं। याचिकाकर्ता का कहना है कि दिशानिर्देश केवल सार्वजनिक स्थानों अथवा कार्यस्थलों पर लागू होता है। उल्लेखनीय है कि पूरे देश में महामारी एक्ट के तहत मिले अधिकारों का दुरूपयोग कर रही है क्योंकि महामारी एक्ट के प्रावधानों से अधिकांश जनता वाकिफ नहीं है और पुलिस इसका बेजा फायदा उठा रही है।

राहुल का मोदी पर फिर हमला

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि मोदी को वक्त रहते पूंजीपति मित्रों के लिए बल्कि किसानों के हित में काम करना चाहिए। गांधी ने कहा कि किसान देश का अन्नदाता है और सरकार को उनकी हर बात सुननी चाहिए। इस दिशा में काम करने का अब भी वक्त है इसलिए मोदी सरकार को उनकी मांगों पर विचार करना चाहिए ।
गांधी ने ट्वीट किया कि अब भी वक़्त है मोदी जी, अन्नदाता का साथ दो, पूजीपतियों का साथ छोड़ो। उधर कांग्रेस के टिव्टर हैंडल से राहुल गांधी का अप्रैल 2015 का एक वीडियो पोस्ट किया गया है जिसमें वह संसद में मोदी को सलाह दे रहे हैं कि उनकी सरकार को चंद पूंजीपति मित्रों के लिए नहीं बल्कि किसानों की खुशहाली के लिए काम करना चाहिए क्योंकि किसान और मजदूर ही देश के विकास का आधार है।

Leave a comment

Your email address will not be published.