नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को कश्मीर केसर इतना भाया है कि उन्होंने इसकी तारीफों के पुल बांध दिए। मोदी ने कहा कि कश्मीरी केसर को जीआई टैग मिल गया है और केंद्र सरकार इसे वैश्विक स्तर पर लोकप्रिय ब्रांड बनाने की दिशा में काम करेगी।

उन्होंने कहा कि कश्मीरी केसर विशिष्ट है और दूसरे देशों के केसर से बिलकुल अलग है। केसर जम्मू और कश्मीर की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत का प्रतिनिधित्व करता है। कश्मीरी केसर सदियों से पुलवामा, बडगाम और किश्तवाड़ में उगाया जाता रहा है। ज्ञात रहे कि जीआई टैग उन उत्पादों को मिलता है, जिनका एक विशिष्ट भौगोलिक मूल क्षेत्र होता है। कश्मीरी केसर वैश्विक स्तर पर एक ऐसे मसाले के रूप में प्रसिद्ध है, जिसमें कई औषधीय गुण हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि यह अत्यंत सुगन्धित होता है। इसका रंग गाढ़ा होता है। इसके धागे लंबे व मोटे होते हैं जो इसकी औषधीय गुणवत्ता को बढ़ाते हैं। कश्मीरी केसर को जीआई टैग की पहचान मिलने के बाद दुबई के एक सुपर मार्केट में इसे लांच किया गया।

अब इसका निर्यात बढ़ने लगेगा। जीआई टैग मिले केसर को केसर राष्ट्रीय मिशन (एनएमएस) की मदद से पाम्पोर के व्यापार केंद्र में ई-व्यापार के जरिए बेचाा जा रहा है। देशवासी जब भी केसर खरीदें तो कश्मीर का ही केसर खरीदें। उल्लेखनीय है कि कश्मीर का पाम्पोर इलाका केसर की खेती के लिए विख्यात है।

Leave a comment

Your email address will not be published.