नई दिल्ली. जहरीली शराब ने मध्यप्रदेश के मुरैना जिले में दस लोगों की जान ले ली और आधा दर्जन से अधिक गम्भीर रूप से बीमार हो गए।

मुरैना जिला प्रशासन के अनुसार जिले के बागचीनी थाना क्षेत्र के छेरा मानपुर और सुमावली थाना क्षेत्र के पहावली और बिलैयापुरा गांव के दस लोगों की मौत हो गई है। इनमें से कुछ की मुरैना तथा कुछ की ग्वालियर जिला अस्पताल में मौत हुई है। अभी यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि मौत जहरीली शराब के सेवन से या फिर अन्य कोई कारण से हुई है। मृतकों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से मौत की वजह का खुलासा हो सकेगा।

जिला प्रशासन का कहना है कि मामले में जो भी दोषी होंगे उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। बताया जा रहा है कि बागचीनी थाना क्षेत्र के छेरा मानपुर गांव के घरों में अवैध शराब बनाई जा रही थी, जिसके सेवन से ग्रामीण बीमार हो गए और उन्हें मुरैना और ग्वालियर के अस्पतालों में भर्ती कराया गया था।

मध्यप्रदेश में शराब माफिया का कहर

इधर मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आरोप लगाया कि प्रदेश में शराब माफिया का कहर जारी है। मुरैना जिले की घटना से यह साबित हो गया है। कमलनाथ ने ट्वीट किया कि पहले उज्जैन जिले में 16 लोगों की जान गईं और अब मुरैना जिले में शराब माफिया ने 10 लोगों की जान ली है।

उन्होंने राज्य सरकार से सवाल किया कि शराब माफिया आखिर कब तक इस तरह लोगाें की जान लेता रहेगा! कमलनाथ ने बीमारों को समुचित इलाज कराने और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। भाजपा सरकार में माफिया के हौंसले बुलंद हैं। राज्य सरकार की कार्रवाई दिखावटी है और बड़े माफिया निर्भीक होकर कार्य अंजाम दे रहे हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.