नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कोरोना वैक्सीन का विकास कर रही भारत बायोटेक अंतरराष्ट्रीय लिमिटेड (बीबीआईएल) पहुंचे और टीके विकास सम्बंधी कार्यक्रम का जायजा लिया। बीबीआईएल कोवैक्सीन बनाने में जुटा हुआ है। मोदी पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया भी गए। मोदी वैज्ञानिकों के साथ चर्चा कर टीका विकास की तैयारियों का निरीक्षण किया। इससे पहले मोदी ने अहमदाबाद में जाइडस कम्पनी की प्रयोगशाला भी गए।

भारत बायोटेक इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) के सहयोग से कोविड-19 की वैक्सीन ‘कोवैक्सीन’ विकसित कर रहा है। टीके के तीसरे चरण के क्लीनिकल परीक्षण की शुरुआत कर दी गई है। कोरोना वाइरस के टीकों का विकास और बड़े पैमाने पर विनिर्माण की तैयारी कर रही तीन भारतीय प्रयोगशालों के दौरे के क्रम में यहां पहुंचे मोदी ने शहर के बाहर चांगोदर उपनगर में जाइडस बायोलाजिक्स बायोटेक पार्क स्थित प्रयोगशाला का दौरा किया।

कम्पनी के चेयरमैन पंकज पटेल और उनके पुत्र तथा प्रबंध निदेशक शरविल पटेल ने उनका स्वागत किया। मोदी ने टीका विकास और इसके बड़े पैमाने पर उत्पादन प्रक्रिया के बारे में महत्वपूर्ण जानकारियां हासिल की। विशेष पीपीई किट पहन कर प्रयोगशाला का दौरा किया और पटेल तथा सम्बंधित वैज्ञानिकों से चर्चा भी की। प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर जानकारी दी कि उन्होंने यहां विकसित की जा रही डीएनए आधारित स्वदेशी टीके के बारे में और जानकारी हासिल की। उन्होंने इससे जुड़ी टीम को बधाई दी और कहा कि सरकार उनके सहयोग के लिए सक्रिय ढंग से काम कर रही है।

Leave a comment

Your email address will not be published.