महामारी कानून को बनाया आधार

जयपुर. कथित तौर पर कोरोना की दूसरी लहर की परवाह नहीं कर रहे राजस्थान के नागरिकों को अब पुलिस ठीक करेगी। महामारी अधिनियम के तहत अब तक 10 लाख 36 हजार से अधिक व्यक्तियों का चालान कर चुकी राजस्थान पुलिस ने कहा ​है कि हैल्थ प्रोटोकाल का पालन नहीं करने वालों की अब खैर नहीं रहेगी।

महामारी कानून की पालना कराने का जिम्मा उठा रही राजस्थान पुलिस के एम एल लाठर के अनुसार राजस्थान एपिडेमिक अध्यादेश के तहत 10 लाख 36 हजार से अधिक चालान किए जा चुके हैं। मास्क नहीं लगाने पर 3 लाख 54 हजार, बिना मास्क पहने लोगों को सामान बेचने पर 14 हजार 285, भौतिक दूरी नहीं रखने पर 6 लाख 64 हजार 488 व्यक्तियों के चालान किए हैं।

निषेधाज्ञा तथा क्वारंटाइन मापदण्डों का उल्लघंन करने पर 3 हजार 831 एफआईआर दर्ज कर अब तक 9 हजार 881 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया। निषेधाज्ञा व एमवी एक्ट के तहत 12 लाख 73 हजार 380 वाहनों का चालान एवं 1 लाख 77 हजार 386 वाहनों को जब्त कर 23 करोड़ 85 लाख रुपये से अधिक जुर्माना वसूल किया है।

प्रदेश में 31 हजार 973 व्यक्तियों को शांति भंग में गिरफ्तार किया जा चुका है। सोशल मीडिया दुरुपयोग में 232 मुकदमे दर्ज कर 303 के खिलाफ अभियोग दर्ज किया एवं 256 को गिरफ्तार किया। थूकने, शराब सेवन एवं सार्वजनिक स्थलों पर गुटखा-तम्बाकू का सेवन करने वाले व्यक्तियों के खिलाफ भी कार्रवाई की जा रही है।

Leave a comment

Your email address will not be published.