नई दिल्ली. देश में कोरोना टीकाकरण शुरू होते ही कांग्रेस ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन का जिक्र करते हुए केन्द्र सरकार पर हमला बोल दिया। पार्टी प्रवक्ता और पंजाब के आनन्दपुर साहिब से सांसद मनीष तिवारी ने पूछा कि दुनिया के हर देश में सरकार के प्रमुख ने वैक्सीन ली है। अमेरिका में नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन और उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने वैक्सीन लगवाई। ब्रिटेन में, महारानी एलिजाबेथ और प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने टीका लगवाया और अन्य देशों के प्रमुखों ने भी यही काम किया है। तिवारी ने पूछा कि भारत में सरकार के किसी भी जिम्मेदार नेता ने पहले टीका क्यों नहीं लगवाया!

उन्होंने टीके तीसरे चरण के ट्रायल नतीजे नहीं आने का जिक्र करते हुए मीडिया से कहा कि अगर टीका इतना सुरक्षित और विश्वसनीय है तो सरकार के नेता इसे लगवाने आगे क्यों नहीं आए ?
तिवारी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देश में दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान का उद्घाटन किए जाने के तुरंत बाद मीडिया से बात करते हुए कहा कि टीकों को तीसरे चरण के ट्रायल के बिना इस्तेमाल करने की अनुमति क्यों दी गई! तिवारी ने पूछा कि अगर टीका इतना विश्वसनीय है तो सरकार के किसी प्रमुख नेता ने क्यों नहीं लगवाई?

तिवारी ने पूछा कि कोवैक्सीन पर उठाए गए सवालों का अभी तक जवाब नहीं दिया गया। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने महामारी को समाप्त करने के लिए टीकाकरण अभियान की शुरूआत की। कोरोना से अब तक देश में 1,52,093 लोगों की जान जा चुकी है और अर्थव्यवस्था तबाह हो चुकी है।

डिजीटल संबोधन में प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत बहुत कम समय में दो ’मेड-इन-इंडिया’ टीके बनाने में कामयाब रहा। आमतौर पर टीका बनाने में वर्षों लगते हैं। मोदी ने कहा कि ’अफवाहों’ से बचें, क्योंकि भारत के ड्रग कंट्रोलर जनरल ने आपातकालीन उपयोग के लिए टीकों को मंजूरी दी है। वैक्सीन अनुसंधान में शामिल वैज्ञानिकों के प्रयासों की सराहना करते हुए मोदी ने कहा कि वे इन टीकों को बनाने के लिए विशेष प्रशंसा के पात्र हैं और ये टीके हमें घातक महामारी के खिलाफ एक निर्णायक जीत दिलाएंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published.