नई दिल्ली. राजस्थान के टपूकडा में बनी कारें अब उन देशों में धमाल मचाएंगी जहां भारत की तरह लेफ्ट हैंड ड्राइव सिस्टम है। टपूकड़ा संयंत्र की ये कारें भारत से बाहर नेपाल और भूटान में खूब पसंद की जा रही है। कम्पनी को उम्मीद है कि पांचवीं पीढ़ी की New Honda City Car: होंडा सिटी कारें विदेशों में अच्छी पैठ बनाने में कामयाब रहेंगी।राजस्थान में बनी कारें विदेशों में मचा रही हैं धमाल, नेपाल और भूटान में दीवानगी की हद तक पसंद

भारत में प्रीमियम कारों की प्रमुख निर्माता होंडा कार्स इंडिया लिमिटेड  (एचसीआईएल) ने घोषणा की है कि वह 5वीं पीढ़ी की New Honda City Car: नई होंडा सिटी कार का निर्यात लेफ्ट हैंड देशों को करेगी। कंपनी ने गुजरात में पीपावाव पोर्ट और चेन्‍नई में एन्‍नोर पोर्ट से मिडिल ईस्‍ट देशों को पहला बैच रवाना करने के साथ ही 5वीं पीढ़ी की कार का निर्यात शुरू कर दिया है। एचसीआईएल अगस्‍त, 2020 से दक्षिण अफ्रीका को नए मॉडल्‍स का निर्यात कर रही है। पड़ोसी देशों नेपाल और भूटान को भी ये कार बेची गई हैं।

कम्पनी प्रेसिडेंट और सीईओ गाकू नाकानिशी ने बताया कि भारत में सेडान एक बेंचमार्क है और नए बाजारों में निर्यात करके हम भारत के व्‍यापार को मजबूत करेंगे। राजस्थान के टपूकड़ा स्थित उत्पादन संयंत्र में विश्व-स्तरीय New Honda City Car: होंडा सिटी कारों का निर्माण किया जा रहा है। 5वीं पीढ़ी की इस कार को भारतीय बाजार खूब पसंद किया जा रहा है। एचसीआईएल सभी मॉडल्‍स का 90 प्रतिशत से अधिक निर्माण स्‍थानीय उपकरणों से कर रही है। एचसीआईएल नेपाल, भूटान, दक्षिण अफ्रीका और एसएडीसी देशों को विभिन्‍न मॉडल्‍स का निर्यात कर रही है। 5वीं पीढ़ी की कार का निर्यात भारत के निर्यात कारोबार में मील का पत्थर सिद्ध होगा।

Leave a comment

Your email address will not be published.