नई दिल्ली. कोरोना का नया स्ट्रेन भारत के बीस लोगों में पाया गया है। ये सभी ब्रिटेन से लौटे हैं। एक दिन पूर्व भारत में नए स्ट्रेन के 6 मरीज मिले थे, जिनकी संख्या अब बढ़कर 20 हो गई है। सभी संक्रमितों को हेल्थ केयर आइसोलेशन में रखा गया है और उनके संपर्क में आने वाले लोगों को भी क्वारंटाइन कर दिया गया है। संक्रमितों के सह-यात्रियों, पारिवारिक संपर्कों और दूसरे लोगों की कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग शुरू कर दी गई है। इस बीच केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों से कहा है कि टेस्टिंग में कोताही नहीं बरती जाए।

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार 25 नवंबर से 23 दिसंबर के बीच ब्रिटेन से 33 हजार यात्री भारत आए। जिनमें 100 से अधिक कोरोना संक्रमित पाए गए। भारत सरकार ने 23 दिसंबर से ब्रिटेन से हवाई सेवा बंद कर रखी है। कोरोना के नए स्ट्रेन की पुष्टि ब्रिटेन में होने के बाद यह भारत समेत कई देशों में फैल चुका है। नया स्ट्रेन ब्रिटेन के अलावा भारत, अमेरिका, स्पेन, स्वीडन, स्विटजरलैंड, फ्रांस, डेनमार्क, जर्मनी, इटली, नीदरलैंड, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, जापान, लेबनान, सिंगापुर और नाइजीरिया में मिला है। साउथ अफ्रीका में कोरोना का एक अन्य नया स्ट्रेन मिला है। ये ब्रिटेन में मिले नए स्ट्रेन से अलग है।

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार मंत्रालय के अनुसार 25 नवंबर से 23 दिसंबर के बीच ब्रिटेन से भारत आये जो यात्री पॉजिटिव पाए गए, उनके नमूने आगे की जांच के लिए इन्साकॉग की अलग-अलग लैब में भेजे गए हैं। सबसे अधिक 50 नमूनों की जांच पुणे स्थित एनआईवी में हुई और वहां मात्र एक यात्री का नमूना नये वेरिएंट से संक्रमित पाया गया। दिल्ली में 14 नमूनों में से आठ, कोलकाता में सात नमूनों में से एक, निम्हांस में 15 नमूनों में से सात, सीसीएमबी में 15 नमूनों में से दो और आईजीआईबी में छह नमूनों में से एक नमूना ब्रिटेन के वेरिएंट से संक्रमित पाया गया। संक्रमित पाए गए यात्रियों के जिनोम सिक्वेसिंग का काम जारी है।

Leave a comment

Your email address will not be published.