जयपुर. करीब डेढ़ साल पहले थाने पर एके 47 राइफलों से फायरिंग करके फरार हुए राजस्थान के Most Wanted Papala Gurjar caught: मोस्ट वांटेड पपला उर्फ विक्रम गुर्जर को जयपुर पुलिस ने पकड़ लिया है। पपला पर एक लाख रूपए का इनाम था। वह 6 सितंबर 2019 को अलवर जिले में बहरोड़ थाने की हवालात से भाग निकला था। 6 सितंबर 2019 को अलवर जिले के बहरोड़ थाने की हवालात में बंद पपला को गैंग के साथी एके 47 राइफलों से फायरिंग कर भगा ले गए थे। मोस्टवांटेड गैंगस्टर पपला उर्फ विक्रम गुर्जर को जयपुर पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। पपला को पुलिस ने उत्तराखंड में पकड़ा। यह कार्रवाई जयपुर रेंज आईजी हवासिंह घुमरिया के निर्देशन में की गई। पपला की फरारी के बाद उस पर एक लाख रुपए का इनाम घोषित किया गया था।

डेढ़ साल पहले 32 लाख रूपयों के साथ हुआ था गिरफ्तार

पुलिस के अनुसार 5 सितंबर को बहरोड़ थाना पुलिस ने गश्त के दौरान एक स्कॉर्पियो में सवार हरियाणा के Most Wanted Papala Gurjar caught: मोस्ट वांटेड इनामी बदमाश पपला गुर्जर को संदिग्ध गतिविधियों के चलते धर दबोचा था। उसकी गाड़ी से करीब 32 लाख रुपए की नकद राशि बरामद की गई थी। इसके बाद पुलिस ने पपला गुर्जर को बहरोड़ की हवालात में बंद कर दिया।

अगले दिन 6 सितंबर को सुबह करीब 7ः30 बजे पपला की गैंग के करीब 8-10 हथियारबंद बदमाश बहरोड़ थाने पहुंचे। अंधाधुंध फायरिंग के बाद हवालात में बंद Most Wanted Papala Gurjar caught: पपला गुर्जर को छुड़ाकर भाग निकले थे। वारदात के बाद उसकी गैंग में शामिल करीब 20 बदमाशों को पुलिस ने धरदबोचा था। सभी पर 50-50 हजार रुपए के इनाम थे।

एसओजी ने लगाया था एडी-चोटी का जोर

केस की जांच एसओजी राजस्थान पुलिस को सौंपी गई थी। तब फरार पपला पर एक लाख रुपए का इनाम घोषित किया गया था। पपला को पकड़ने के लिए राजस्थान पुलिस ने हरियाणा और यूपी पुलिस के सहयोग से सर्च ऑपरेशन चलाया। लेकिन पपला का कोई सुराग नहीं मिला था। उल्लेखनीय है कि पपला के फरार हो जाने के बाद अलवर के बहरोड थाने के पूरे स्टाफ को बदल दिया गया था। कई पुलिसकर्मियों को बर्खास्त करने के साथ ही आधा दर्जन से अधिक को निलम्बित कर दिया गया था।

Leave a comment

Your email address will not be published.