नई दिल्ली. भाजपा की ओर से आयोजित करवाई गई किसान महापंचायत का विरोध कर रहे किसानों पर करनाल में लाठीचार्ज, पानी की बौछार, आंसू गैस के गोले दागे गए। महापंचायत को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का सम्बोधित करना था।

जानकारी के अनुसार कार्यक्रम का विरोध कर रहे किसानों पर पुलिस ने वाटर कैनन का इस्तेमाल किया और आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठी चार्ज भी किया। करनाल जिले के कैमला गांव में मनोहर लाल खट्टर को किसान महापंचायत को संबोधित करने आना था। महापंचायत का आयोजन भाजपा ने करवाया है। उसके विरोध के लिए किसान गांव की ओर कूच कर रहे थे। तभी पुलिस ने यह कार्रवाई की।

समाचार एजेंसियों के अनुसार हरियाणा पुलिस ने रविवार को हरियाणा के करनाल जिले के कैमला गांव की ओर किसानों को प्रदर्शन से रोकने के लिए वाटर कैनन और आंसूगैस के गोले का इस्तेमाल किया, जहां मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर एक ’किसान महापंचायत’ को संबोधित करने आने वाले थे।

काले झंडे लेकर नारे लगा रहे थे प्रदर्शनकारी किसान

मुख्यमंत्री के दौरे के लिए पुलिस ने सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए हैं, जहां उन्हें किसानों से कृषि कानूनों के फायदे के ऊपर बात करनी थी। कानून को निरस्त करने की मांग कर रहे प्रदर्शनकारी किसानो ने पहले ही महापंचायत का विरोध करने की घोषणा कर दी थी। कैमला गांव की ओर मार्च करने के दौरान किसान भाजपा की अगुवाई वाली सरकार के खिलाफ काले झंडे लेकर नारेबाजी कर रहे थे।

किसानों को कार्यक्रम स्थल तक पहुंचने से रोकने के लिए पुलिस ने गांव के प्रवेश बिंदुओं पर बैरिकेड्स लगा दिए। यहां यह उल्लेखनीय है कि दिल्ली को पिछले डेढ़ माह से घेरे बैठे किसानों ने केन्द्र की मोदी सरकार की ओर से बनाए गए तीन कृषि कानूनों को रद्द करने के लिए आंदोलन छेड़ा हुआ है। जबकि मोदी सरकार तीनों कानूनों से किसानों को होने वाले फायदे गिना रही है।

Leave a comment

Your email address will not be published.