नई दिल्ली. दिल्ली की सीमा पर डटे किसानों का दिल्ली की किसान खापों ने समर्थन किया है। उनका कहना है कि वे प्रदर्शनकारी किसान भाइयों के साथ खड़े हैं एवं प्रतीकात्मक तौर पर 8 तारीख़ के महाबंद का पुरज़ोर समर्थन करते हैं।

दिल्ली देहात किसान बचाओ मंच के अध्यक्ष डॉ नरेश कुमार ने मुंडका में अपने आवास पर किसान विरोधी कानूनों का जिक्र करते हुए कहा कि किसानों एवं खापों के प्रधानों ने एकजुट होकर एकस्वर में कहा है कि वे प्रदर्शनकारी किसान भाइयों के साथ खड़े हैं एवं प्रतीकात्मक तौर पर 8 तारीख़ के महाबंद का पुरज़ोर समर्थन करते हैं।
उन्होंने यह भी फ़ैसला लिया कि दिल्ली देहात से आने वाले दो भाजपा सांसदों रमेश बिधूडी, प्रवेश साहिब सिंह वर्मा एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का सामाजिक बहिष्कार करेंगे क्योंकि उन्होंने सत्ता में रहते हुए किसानों के पक्ष को नज़रंदाज़ किया है। इन तीनों नेताओं ने किसान विरोधी कानूनों का समर्थन करके दिल्ली एवं देश के किसानों के साथ धोखेबाज़ी की है।
केजरीवाल इस मुद्दे पर भी आदतन पूर्वानुसार झूठ बोलते आ रहें है क्योंकि यदि ये सही में विरोध करते तो पंजाब, राजस्थान और छत्तीसगढ़ सरकारों की तरह विधानसभा सत्र बुलाकर किसान विरोधी ऐसे क़ानूनों का विरोध करते। ऐसा नहीं करना यह दर्शाता है कि केजरीवाल भाजपा की बी टीम की तरह काम कर रहे हैं और जनता को गुमराह कर रहे हैं।
कुमार ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि आठ तारीख़ को आयोजित महाबंद का समर्थन करें और इस गूंगी-बहरी सरकार को नींद से जगाएं।

इस परिचर्चा में तीन सौ साठ खाप पालम के अध्यक्ष चौधरी किशनचंद, राम करण सोलंकी, बवाना खाप के अध्यक्ष चौधरी धारा सिंह, नरेला खाप के अध्यक्ष चौधरी रणबीर सिंह, मेहरौली खाप के अध्यक्ष चौधरी पृथ्वी सिंह एवं ग्राम प्रधानो/पूर्व प्रधानों में मुख्यतया प्रधान लक्ष्मीचंद चौधरी, चौधरी सुल्तान प्रधान, चौधरी ईश्वर प्रधान ने हिस्सा लिया।

Leave a comment

Your email address will not be published.