जयपुर. राजधानी जयपुर के अतिरिक्त जिला कलेक्टर की मानसरोवर इलाके में रह रही सरकारी शिक्षक बहन की दिनदहाड़े हत्या कर दी गई। पुलिस ने महिला के पड़ोस में रहने वाले युवक को हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है। महिला के छोटे भाई युगांतर शर्मा जयपुर में एडीएम के पद पर तैनात हैं और उनका बेटा भोपाल में आईटी कम्पनी में प्रोफेशनल है। बेटे की 15 फरवरी को शादी होने वाली है।

पुलिस के अनुसार वारदात के वक्त महिला विद्यादेवी मानसरोवर के सेक्टर-23 स्थित घर में अकेली थी। उसका शव घर की रेलिंग में बंधा मिला। पुलिस ने हत्या के संदेह में पड़ोस में रहने वाले दो युवकों को हिरासत में लिया। युवकों में से एक ने लूटपाट के इरादे से महिला शिक्षक की हत्या करना कुबूल लिया है। युवक छत के रास्ते दरवाजा खोलकर घर के एक कमरे में घुसा ही था कि विद्या देवी पहुंच गई। महिला ने युवक को पहचान कर टोका तो पकड़े जाने के डर से उसने विद्या देवी की हत्या कर दी।

हत्या का पता तब चला जब विद्या ने सोशल मीडिया की डीपी पर लड्डू गोपाल की फोटो अपडेट नहीं की। विद्या प्रतिदिन डीपी अपडेट करती थी। अपडेट नहीं मिलने पर स्कूल के सहकर्मियों ने उन्हें फोन किया। फोन रिसीव नहीं होने पर पड़ोस में रहने वाले राजेश जैन को फोन करके विद्या देवी से बात करवाने के लिए कहा गया। पड़ोसी राजेश जैन ने विद्या देवी को आवाज लगाई लेकिन उनका जवाब नहीं आने पर राजेश ने अपने बेटे को मकान की छत से घर में देखने के लिए कहा। बेटे ने छत से झांककर देखा तो उन्हें रेलिंग से बंधा पाया। उनके हाथ-पैर भी बंधे हुए थे।

राजस्थान प्रशासनिक सेवा अधिकारी की बहन की हत्या को लचर कानून-व्यवस्था का प्रत्यक्ष प्रमाण बताते हुए राजस्थान विधानसभा में विपक्ष के उपनेता राजेन्द्र राठौड़ ने पुलिस महानिदेशक एम एल लाठर के उस वक्तव्य की खिल्ली उड़ाई जिसमें उन्होंने राज्य की कानून व्यवस्था को नियंत्रण बताया था। लाठर ने सोमवार को ही प्रेस कांफ्रेंस करके कानून-व्यवस्था को पूरी तरह काबू में बताया था।

Leave a comment

Your email address will not be published.