जयपुर. राजस्थान में ग्राम सेवा सहकारी समितियों की बैकलॉग एवं बकाया ऑडिट करवाने के लिए 31 जनवरी, 2021 तक रिकॉर्ड पूर्ति अभियान चलाया जाएगा। अभियान के तहत ग्राम सेवा सहकारी समितियों के लेखे पूर्ण करवाकर ऑडिट के लिए उपलब्ध कराए जाएंगे ताकि शत-प्रतिशत ग्राम सेवा सहकारी समितियों की ऑडिट पूर्ण हो सके।

रजिस्ट्रार सहकारिता मुक्तानन्द अग्रवाल ने मंगलवार को बताया कि केन्द्रीय सहकारी बैंकों के अन्तर्गत सदस्य ग्राम सेवा सहकारी समितियों में कई ग्राम सेवा सहकारी समितियों के लेखे अपूर्ण है। ऑडिट के अभाव में बैंक द्वारा ऐसी समितियों को ऋण वितरण किए जाने से समिति में वित्तीय अनियमितता की आशंका बनी रहती है। सभी केन्द्रीय सहकारी बैंकों के प्रबंध निदेशकों को निर्देशित किया गया है ताकि लेखे पूर्ण होने की कार्रवाई होने पर ऑडिट हो सके।

उन्होंने बताया कि ऐसी ग्राम सेवा सहकारी समितियां जो लंबे समय से ऑडिट नही करवा रही है उनके खिलाफ सहकारिता अधिनियम एवं नियमों के अन्तर्गत कार्यवाही की जाएगी। इसके लिए सभी जिला उप रजिस्ट्रार को निर्देशित कर दिया गया है। उप रजिस्ट्रार यह सुनिश्चित करेंगे कि 7 दिवस के भीतर इन समितियों के खिलाफ कार्यवाही हो।

रजिस्ट्रार ने बताया कि समर्थन मूल्य खरीद के दौरान विभाग के निरीक्षकों व कार्मिकों की सुरक्षा हेतु खरीद केन्द्रों पर पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था के लिए जिला कलेक्टर एवं जिला पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखा गया है ताकि खरीद कार्य सुचारू रूप से संचालित हो सके। उन्होंने बताया कि हाल में पूगल क्रय-विक्रय सेवा सहकारी समिति के तहत गोडू खरीद केन्द्र पर खरीद प्रभारी के साथ खरीद के संबंध में विवाद होने पर कुछ लोगों ने मारपीट कर दी थी। जिसकी एफआईआर दर्ज करा दी गयी है।

Leave a comment

Your email address will not be published.