नई दिल्ली. ऑल इंडिया यूनानी तिब्बी कांग्रेस की ओर से प्रत्येक वर्ष 12 फरवरी को हकीम अजमल खान की जयंती पर आयोजित होने वाला विश्व यूनानी चिकित्सा दिवस कार्यक्रम इस वर्ष राजधानी दिल्ली के कांस्टीट्यूशन क्लब में आयोजित किया जाएगा। कार्यक्रम की तैयारियों को लेकर दरियागंज में कार्यकारणी की बैठक प्रो मुस्ताक अहमद की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में विश्व यूनानी चिकित्सा दिवस के कार्यक्रम की रूपरेखा को अंतिम रूप दिया गया।

बैठक में तय किया गया कि इस वर्ष के कार्यक्रम के अवसर पर प्रकाशित होने वाली स्मारिका अलीगढ़ के प्रसिद्ध चिकित्सक हकीम मोहम्मद इफहामउल्लाह के नाम पर प्रकाशित की जाएगी। हकीम मोहम्मद इफहामउल्लाह अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के पूर्व शिक्षक रहे हैं।

उन्होंने अलीगढ़ में अपने उस्ताद हकीम अब्दुल लतीफ फलसफी से स्वास्थ्य के क्षेत्र के सभी गुण प्राप्त किए थे। उनके नाम पर स्मारिका निकालने के पीछे यह सोच भी है कि इनके स्वास्थ्य के क्षेत्र में किए गए कामों से वर्तमान पीढ़ी को अवगत कराया जाए।

कार्यकारणी के फैसले के अनुसार हकीम खुर्शीद अहमद शफकत आजमी, प्रो मुस्ताक अहमद, डॉ सैयद अहमद खान सेक्रेटरी जनरल ऑल इंडिया यूनानी तिब्बी कांग्रेस, प्रोफेसर मिसबाहुद्दीन सिद्दीकी, हकीम फखरे आलम को स्मारिका को तैयार करने वाले सम्पादकीय बोर्ड का सदस्य मनोनीत किया गया हैं।

डॉ सैयद अहमद खान ने हकीम मोहम्मद इफहामउल्लाह के बारे में जानकारी रखने वालों और लेखकों आदि से विशेष लेख  लिखने की अपील की है। उनका कहना है कि  संपादकीय बोर्ड  की कोशिश होगी कि इस स्मारिका को हर स्तर पर हकीम मोहम्मद इफहामउल्लाह के व्यक्तित्व के शायाने शान प्रकाशित किया जाए।

Leave a comment

Your email address will not be published.