नई दिल्ली. पुलिस ने मुकेश अंबानी की रिलायंस जियो के नाम पर आटा बेच रहे चार जनों को गिरफ़्तार कर लिया है। अंबानी की जियो ब्रांड के नाम की इन बोरियों की फोटो कुछ समय पहले सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी। तब रिलायंस जियो ने सफाई दी थी कि उसके जियो ब्रांड का किसान फसल खरीदी की फोटो से कोई लेना-देना नहीं है।

पुलिस ने ये कार्रवाई गुजरात के सूरत में चार लोगों को रिलायंस जियो के चिह्न वाली बोरियों में कथित तौर पर आटा बेचने के लिए गिरफ्तार किया है। आरोपियों को एक ट्रेडिंग कंपनी से गिरफ्तार किया गया। उन पर 1999 के ट्रेड मार्क्स कानून की धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है।

सोशल मीडिया पर थीं पोस्ट

कुछ दिनों पहले ही सोशल मीडिया पर रिलायंस जियो की बोरियों की कुछ तस्वीरें सामने आई थीं। इन पोस्ट्स में दावा किया गया था कि कृषि कानून के लागू होने के साथ ही रिलायंस ने किसानों की फसलों को खरीदने के लिए पहले से ही तैयारी कर रखी थी। हालांकि बाद में रिलायंस ने सफाई दी थी कि उसके जियो ब्रांड का किसान फसल खरीदी की फोटो से कोई लेना-देना नहीं है।

ट्रेडमार्क कानून उल्लंघन पर हुई है कार्रवाई

पुलिस के अनुसार रिलायंस ने शिकायत दर्ज कराई थी कि आरोपी भारत गजेरा की फर्म राधाकृष्ण ट्रेडिंग कंपनी अपनी बोरियों में जियो का ट्रेडमार्क इस्तेमाल कर आटा बेच रही है। इन आरोपों की जांच के बाद कंपनी मालिक गजेरा और तीन अन्य लोगों को ट्रेडमार्क कानून के उल्लंघन के आरोपों पर गिरफ्तार किया गया। जिन तीन अन्य लोगों को गिरफ्तार किया गया है, वे बोरियों पर जियो के लोगो की प्रिंटिंग और उसकी सप्लाई से जुड़े हैं। रिलायंस जियो को अपने लोगो के गलत इस्तेमाल की जानकारी टीवी न्यूज रिपोर्ट से मिली थी। चूंकि जियो कृषि उत्पादों से जुड़े कारोबार में अभी नहीं है, इसलिए रिलायंस ने इसकी शिकायत सूरत पुलिस से की थी।

Leave a comment

Your email address will not be published.