जयपुर. जयपुर की एक युवती ने फेसबुक और उसके मालिक मार्क जकरबर्ग व उसकी टीम के खिलाफ धोखाधड़ी की एफआईआर बगरू थाने में दर्ज कराई है।

युवती अंकुर छाबड़ा की एफआईआर में आरोप लगाया है कि ​लम्बे समय से उसका एक फेसबुक पेज पूनम अंकुर छाबड़ा के नाम से था। उस पेज का यूआरएल www.facebook.com/ankurpoonamchhabra है।

पेज की एडमिन होने से इस पेज पर मेरा ही मालिकाना हक है। ये पेज वेरिफाइड है। फेसबुक से वेरिफाइड होने का अर्थ है कि पेज उसी व्यक्ति का है जिसका नाम प्रोफाइल पर है। पेज पर तीन लाख फॉलोवर व लाइक्स हैं।

एफआईआर में आरोप है कि फेसबुक ने अंकुर को एक ई-मेल भेजकर कहा कि फेसबुक उसके पेज पर विज्ञापन चलाना चाहता है। विज्ञापन के एवज में फेसबुक वीकली पेमेंट करेगा तथा पेज का मालिकाना हक उसी का रहेगा। ई-मेल में कहा गया कि उनकी रजामंदी के बाद ही विज्ञापन उनके पेज पर लगाए जाएंगे।

एफआईआर के अनुसार ई-मेल के अलावा फेसबुक के एंपलॉयर ने व्हाट्सएप पर भी उसे समझाया। व्हाटसएप पर बातचीत खत्म होने के थोड़ी देर बाद ही उसका फेसबुक पेज गायब हो गया। तब से ना फेसबुक जवाब दे रहा है और व्हाट्सएप पर बात करने वाले भी कोई रिप्लाई नहीं दे रहे हैं। एफआईआर में आरोप है कि उसके पेज को छुपा दिया गया है। पेज को वापस नहीं दे रहे हैं। फेसबुक पेज के एवज में पैसों की डिमांड कर रहा है।

Leave a comment

Your email address will not be published.