नई दिल्ली. दिल्ली को 11 दिन से घेरकर बैठे किसानों ने तंज किया है कि पूरे देश को मन की बात सुनाने वाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अब किसानों के मन की बात सुन लें तो शायद ठीक रहेगा।

किसानों और सरकार के बीच बातचीत के पांच चक्र हो चुके हैं। किसानों ने 8 दिसंबर को भारत बंद का ऐलान किया है. इसी के साथ सबकी निगाहें अब 9 दिसंबर को सरकार के साथ होने वाली किसानों की बातचीत पर टिक गई हैं।

किसान नेता बलदेव सिंह निहालगढ़ का कहना है कि आंदोलन सिर्फ पंजाब का न होकर पूरे देश है। मंत्री तिलमिलाए हुए हैं कि भारत बंद का आह्वान क्यों किया गया! किसान नेता ने बताया कि 8 दिसंबर को सुबह से शाम तक बंद रहेगा। चक्का जाम 3 बजे तक किया जाएगा। एम्बुलेंस और शादियों के लिए रास्ता खुला रहेगा। उन्होंने कहा कि मोदी के मन की बात हम सुन चुके हैं, अब वे हमारे मन की बात सुनें।

हर कांग्रेसी किसानों के साथ-अशोक गहलोत

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 8 दिसंबर को किसानों के भारत बंद का समर्थन किया है। गहलोत ने ट्वीट किया कि कांग्रेस पार्टी 8 दिसंबर को किसानों के पक्ष में भारत बंद का समर्थन करती है। जैसा कि हम जानते हैं कि राहुल जी अपने हस्ताक्षर अभियान, किसान और ट्रैक्टर रैली के माध्यम से किसानों की आवाज उठाते रहे हैं। देश के हर कोने में हर कांग्रेसी कार्यकर्ता किसानों के साथ खड़ा है।

Leave a comment

Your email address will not be published.