फिलीपींस में भारी तबाही

नई दिल्ली. साल में बीस से अधिक तूफानों का सामना करने वाले फि​लीपींस में ‘गोनी’ ने भारी तबाही मचाई है। 225 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार के साथ फिलीपींस से टकराने वाले गोनी तूफ़ान के प्रभाव से यहां भारी बारिश हो रही है। तेज़ रफ़्तार हवा अलग से कहर ढा रही है। तूफ़ान के चलते बड़े पैमाने पर लोगों के घर तबाह हो चुके हैं और बाढ़ से सड़कें ध्वस्त हो गई हैं।
रविवार सुबह 4.50 बजे कैटेंडुनस द्वीप के तट आकर टकराया तूफान मुख्य द्वीप लुज़ोन तक पहुँच गया है। राजधानी मनीला लुज़ोन पर ही है। कैटेंडुनस द्वीप के छोटे से शहर वीराक को लेकर चिंता की बनी हुई है। वहाँ करीब 70,000 लोग रहते हैं। यहां से संपर्क टूट गया है।
मौसम विभाग ने भारी बारिश, बाढ़ और भूस्खलन की चेतावनी दी है। सोशल मीडिया पर दिख रही तस्वीरों में घरों के ऊपर से टिन के छत उड़ते हुए दिख रहे हैं। स्थानीय प्रशासन ने बिजली की सप्लाई बंद कर दी है। तस्वीरों में तूफ़ान गोनी के रास्ते में आने वाली सड़कें और दूसरी आधारभूत संरचनाएँ ध्वस्त होती दिख रही है।

खबर लिखे जाने तक पांच साल के एक बच्चे सहित चार लोग मारे जाने की सूचना है। दो की डूबकर तो एक की कीचड़ में बह जाने से मौत हुई है। एक अन्य की पेड़ गिरने से मौत हुई है। फिलीपींस में 2013 में आए तूफ़ान हेयान के बाद गोनी सबसे ताकतवर तूफान है। तूफ़ान हेयान से फिलीपींस में 6000 लोगों की जान चली गई थी। फिलीपींस में ऐसे तूफ़ान आते रहते हैं। पिछले हफ़्ते आए मोलावे तूफ़ान में यहां 22 लोगों को जान से हाथ धोना पड़ा। क़रीब 3,47,000 लोगों को घरों से निकाल कर सुरक्षित जगहों पर ले जाया गया है।

Leave a comment

Your email address will not be published.