नई दिल्ली. कोरोना महामारी से उबरते भारत के लोगों के एक दूसरी बीमारी ने उनके होश उड़ा दिए हैं। इन दिनों देश के कई हिस्सों में बर्ड फ्लू फैल रहा है। इसे एवियन इन्फ्लूएंजा वायरस के नाम से जाना जाता है। पक्षियों में होने वाली इस बीमारी के चलते चिकन और अंडे खाने वाले लोग इनसे दूरी बना रहे हैं। इसके चलते बाजार में इनकी कीमत तेजी से गिर रही है।

हालांकि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने ये सलाह दी है कि अगर इसे ठीक से पकाकर खाया जाए तो नुकसान की संभावना नहीं होगी। लेकिन कुछ अन्य एक्सपर्ट्स वायरस ग्रस्त पक्षियों के झुंड के जरिए फूड चेन में प्रवेश करने पर चिकन और अंडे खाने को नुकसानदायक बताते हुए कह रहे हैं कि इससे व्यक्ति बर्ड फ्लू की चपेट में आ सकता है।

उल्लेखनीय है कि बर्ड् फ्लू इससे पहले भी देश में कई बार दस्तक दे चुका है। डब्ल्यूएचओ की ओर से जारी की गई गाइडलाइन में हिदायत दी गई है कि चिकन या अंडा ठीक से पकाना बेहद जरूरी है। कम से कम 70 डिग्री सेल्सियस तापमान में पकाकर ही अंडा या चिकन खाना चाहिए। खूब पकाए हुआ नॉनवेज खाने से बर्ड् फ्लू का खतरा नहीं रहेगा।

आमतौर पर बर्ड फ्लू पक्षियों में पाया जाता है। ये इंसानों को नुकसान नहीं पहुंचा सकता। चूंकि लोग चिकन और अंडे का सेवन करते हैं ऐसे में ध्यान देना होगा कि फूड चेन में कोई भी ऐसा पक्षी न आए जो संक्रमित हो वरना खाने के जरिए वायरस इंसान के शरीर में पहुंच सकता है। कच्चे और पके हुए मीट के लिए अलग चाकू और बर्तनों का इस्तेमाल करना चाहिए, वरना संक्रमण फैलने का खतरा रहता है।

यहां बता दें कि देश के पांच राज्य बर्ड फ्लू की चपेट में हैं। इनमें हिमाचल प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, मध्य प्रदेश, केरल शामिल हैं। इसके अलावा कुछ अन्य जगहों से भी ऐसे मामले सामने आ रहे हैं। देश के तमाम राज्यों में बीते 10 दिनों में लाखों पक्षियों की मौत भी हो चुकी है। केरल में पिछले कुछ दिनों में 12,000 बत्तखों की मौत हुई है।

Leave a comment

Your email address will not be published.