नई दिल्ली. भारत और उसके वाशिंदों को बधाई, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट करके कहा है कि देश के दवा नियंत्रक ने ऑक्सफ़ोर्ड में बनी कोविड 19 वैक्सीन कोविडशील्ड और भारत बायोटेक की वैक्सीन के आपातकालीन इस्तेमाल की मंज़ूरी दे दी है।

ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने मंजूरी देते हुए कहा है कि कोवैक्सीन 70.42% प्रभावी है। मंजूरी मिलते ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया कि डीसीजीआई ने सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक वैक्सीन को मंज़ूरी दी है। इसके साथ ही देश ने कोरोना मुक्त होने के लिए एक कदम बढ़ा दिया है।

वैक्सीन को मंजूरी दिए जाने की जानकारी डीसीजीआई के निदेशक डॉक्टर वीजी सोमानी ने ने दी। सोमानी का कहना है कि कोरोना पर बनी सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी ने शनिवार को भारत बायोटेक की कोवैक्सीन को आपातकालीन इस्तेमाल के लिए सशर्त मंजूरी देने की सिफारिश की थी। इससे पहले शुक्रवार को सीरम इंस्टीट्यूट की कोवीशील्ड को भी मंज़ूरी दी गई थी।

इससे पहले शनिवार को स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन पहले चरण में देश के तीन करोड़ हेल्थ वर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स को फ्री वैक्सीन दिए जाने का ऐलान कर चुके हैं। पहले चरण में एक करोड़ हेल्थकेयर वर्कर्स और दो करोड़ फ्रंटलाइन वर्कर्स को मुफ़्त वैक्सीन लगाई जाएगी। जुलाई तक बाक़ी 27 करोड़ वरीयता वाले लोगों को वैक्सीन दिए जाने की योजना है।

डॉक्टर हर्षवर्धन के अनुसार सुदूर इलाकों तक वैक्सीन पहुंचाने के लिए कोल्ड चेन इंफ्रास्ट्रक्चर को अपग्रेड किया गया है और शेष संसाधन पहुंचाए जा रहे हैं। वैक्सीनेशन अभियान से जुड़े विभिन्न लोगों को विस्तृत गाइडलाइन जारी कर दी गई है।

Leave a comment

Your email address will not be published.