शाहपुरा (जयपुर). पुलिस ने उन जीजा-साली को दबोच लिया है जिन्होंने एक बालिका की गला घोंटकर हत्या करने के बाद शव चारे के ढेर में दबा दिया था। मृतक बालिका ने दोनों को आपत्तिजनक स्थिति में देख लिया था।

कोटपूतली के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रामकुंवार कस्वां ने प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि आठ वर्षीय नीतू शाहपुरा थाना इलाके के खोरी गांव स्थित लोमोड़ो की ढाणी से घर के बाहर खेलते समय लापता हो गई थी। परिजनों की रिपोर्ट पर पुलिस ने करीब 100 से ज्यादा अधिकारियों और जवानों की टीम बनाने के साथ ही ड्रोन कैमरे व डॉग स्क्वायड की मदद ली।

काफी मशक्कत के बाद 8 नवम्बर को नीतू का शव घर के पास ही कड़ब के ढेर में बोरे में दबा मिला तो पुलिस ने आस-पास के लोगों से पूछताछ की। पूछताछ में संकेत मिले कि पड़ोस में रहने वाली महिला रेखा देवी से बालिका को बात करते देखा गया।

रेखा को हिरासत में लेने पर उसके बहनोई शेरपुरा शाहपुरा निवासी रमेश कुमार खटाणा के बारे में पता चला। सख्ती करते ही दोनों ने सच्चाई उगल दी। पूछताछ में दोनों ने बताया कि नीतू ने उन्हें आपत्तिजनक ​हालत में देख लिया था।

इससे वे डर गए कि कहीं उनका सम्बंध उजागर नहीं हो जाए। इसके बाद दोनों ने बहाने से बालिका को बुलाकर उसका गला दबा दिया और शव को बोरे में डालकर कडब के ढेर में छुपा दिया।

Leave a comment

Your email address will not be published.