नई दिल्ली. उत्तरप्रदेश में महिलाओं के खिलाफ अत्याचारों की बाढ़ सी आ गई है। बदायूं के एक गांव में महिला के साथ सामूहिक बलात्कार के बाद हत्या के बाद अलीगढ़ में गांधी पार्क इलाके में रेलवे पटरियों के पास से एक 15 वर्षीय लड़की का शव बरामद किया गया है। आशंका जताई जा रही है कि नाबालिग की सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या करके शव को पटरियों के पास फेंक दिया गया। किशोरी रविवार सुबह हरदुआगंज थाना क्षेत्र के एक गांव में अपने घर से लापता हो गई थी।

किशोरी के लापता होने के बाद उसके परिवार को मैसेज मिला कि उसका अपहरण कर लिया गया है। उसकी रिहाई के लिए फिरौती के रूप में पांच लाख रुपये की मांग की गई। अपहरणकर्ताओं ने चेतावनी दी कि अगर फिरौती का भुगतान नहीं किया, तो पीड़िता की आपत्तिजनक स्थिति वाला एक वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया जाएगा।

गांधी पार्क पुलिस स्टेशन में सोमवार को लड़की के परिवार द्वारा दायर की गई शिकायत के अनुसार, वे पैसे नहीं जुटा पा रहे थे और लड़की की तलाश करने की पूरी कोशिश कर रहे थे। पुलिस ने किशोरी के परिवार को मंगलवार को एक लड़की के शव की शिनाख्त करने के लिए बुलाया। शव रेलवे पटरियों पर उनके गांव से कई किलोमीटर दूर पाया गया। शव लापता किशोरी का ही निकला।

पुलिस के अनुसार शव बरामद होने के बाद परिवार ने तीन लोगों का नाम संदिग्ध अपहरणकर्ताओं के रूप में लिया है। पुलिस का कहना है कि तीनों आरोपियों को गिरफ्तार करने की कोशिश की जा रही है। तीनों पर हत्या और पोक्सो अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस घटनास्थल पर मिले सुसाइड नोट की जांच कर रही है। सुसाइड नोट पीड़िता के शव के साथ मिला था। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

Leave a comment

Your email address will not be published.