नई दिल्ली. हिमालय से आने वाली पछुआ हवाएं नववर्ष की पूर्व संध्या को इतना ठंडा कर देंगी कि पार्टी करने वालों को नानी याद आ सकती है। इस दौरान उत्तरी भारत का न्यूनतम तापमान तीन से पांच डिग्री सेल्सियस के बीच झूलता रहेगा।

मौसम विभाग के अनुसार 28 दिसंबर से पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और उत्तरी राजस्थान में शीतलहर फ्लू, जुकाम, नाक से खून निकलने जैसी समस्या पैदा कर सकती है। जो लोग ऐसी दिक्कतों से जूझ रहे हैं, लंबे समय तक ठंड रहने से उनकी समस्या दोगुनी होने की सम्भावना है। मौसम विभाग ने कहा कि इस दौरान शराब ना पिएं। इससे शरीर का तापमान कम होता है। घर के भीतर रहें। विटामिन सी युक्त फलों का सेवन करें।

मौसम विभाग के मुताबिक हिमालय के ऊपरी हिस्से में ताजा पश्चिमी विक्षोभ के चलते रविवार और सोमवार को तापमान में वृद्धि होगी लेकिन जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में बर्फबारी का अनुमान है। पश्चिमी विक्षोभ हट जाने के बाद और उत्तर-पश्चिम या उत्तर-पश्चिम में निचले स्तर की हवाओं में ठंडी और शुष्कता के परिणामस्वरूप 29 दिसंबर के बाद पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ में फिर से गंभीर शीत लहर की स्थिति आ सकती है।

पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली में 28 और 29 दिसंबर को और उत्तरी राजस्थान में 29 और 30 दिसंबर को ‘कोल्ड डे’ की संभावना है। 28, 29 दिसंबर को पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली में घना कोहरा रहेगा। उल्लेखनीय है कि कोल्ड डे या गंभीर कोल्ड डे तब माना जाता है, जब न्यूनतम तापमान 10 डिग्री से कम हो और अधिकतम तापमान सामान्य से 4.5 डिग्री सेल्सियस या 6.4 डिग्री सेल्सियस से कम हो।

Leave a comment

Your email address will not be published.