हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने लगवाया कोरोना ट्रायल टीका

नई दिल्ली. अक्सर बयानों को लेकर सुर्खियों में रहने वाले हरियाणा सरकार के एक मंत्री ने नेताओं के लिए मानदंड स्थापित करने का रास्ता खोल दिया है। उन्होंने वालेंटियर के रूप में कोरोना वैक्सीन ‘कोवैक्सीन’ का टीका लगवाया।
समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार विज ने हरियाणा के अंबाला में एक अस्पताल में यह टीका लगवाया। विज ने स्वयं ही भारत में विकसित किये जा रहे इस टीके के लिए ‘सबसे पहला वॉलंटियर’ बनने की पेशकश की थी।

67 वर्षीय भाजपा नेता ने ट्विटर पर लिखा कि मुझे पीजीआई रोहतक और स्वास्थ्य विभाग के विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम की निगरानी में भारत बायोटेक द्वारा बनाई गई कोरोना वैक्सीन कोवैक्सीन का ट्रायल डोज़ दिया जाएगा। अंबाला कैंट से विधायक अनिल विज ने हरियाणा में कोवैक्सीन के तीसरे चरण का ट्रायल 20 नवंबर से शुरू होने की जानकारी पहले ही दे दी थी।

भारत बायोटेक की कोवैक्सीन ?

कोवैक्सीन टीके को भारत में ही बनाने की कोशिश की जा रही है। इसे भारत बायोटेक नाम की कंपनी इंडियन काउंसिल ऑफ़ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) के सहयोग से बना रही है। कंपनी ने पिछले सप्ताह कहा था कि उसने पहले और दूसरे चरण के ट्रायल का विश्लेषण पूरा कर लिया है और अब वो तीसरे चरण का ट्रायल शुरू कर रही है। कंपनी ने इस सप्ताह बताया कि तीसरे चरण के ट्रायल में देश के 25 केंद्रों पर 26,000 स्वयंसेवियों पर इसका ट्रायल किया जाएगा। भारत में ये कोविड-19 वैक्सीन का अब तक का सबसे बड़ा क्लीनिकल ट्रायल है। इंसानों पर कोवैक्सीन का परीक्षण रोहतक के पीजीआई अस्पताल में जुलाई में ही शुरू किया गया है। उधर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने उम्मीद जताई है कि 2021 के शुरुआती 2-3 महीनों में वैक्सीन मिलनी शुरू हो जाएगी।भारत अगस्त-सितंबर तक 30 करोड़ लोगों को वैक्सीन देने की स्थिति में आ जाएगा।

Leave a comment

Your email address will not be published.