जयपुर. राजस्थान के बीस मजदूरों पर गुजरात के सूरत में एक डम्पर ट्रक चढ़ जाने से 14 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। सभी मजदूर बांसवाडा-डूंगरपुर इलाके के कुशलगढ़ क्षेत्र के हैं। दुर्घटना की सूचना मिलते ही राजस्थान के मुख्यमंत्री ने राज्य के अधिकारियों को दुर्घटनास्थल पर रवाना कर दिया। ये अधिकारी मजदूरों के शवों को उनके गांव तक पहुंचाएंगे। इसके अलावा घायलों के इलाज में भी मदद करेंगे।

जानकारी के अनुसार गुजरात के सूरत में मंगलवार सुबह तेज रफ्तार डम्पर ट्रक ने सड़क किनारे सो रहे राजस्थान के करीब 20 प्रवासी मजदूरों को कुचल दिया, जिससे 14 की मौके पर मौत हो गई। मरने वालों में एक बच्चा भी शामिल है। छह अन्य मजदूर घायल हो गए हैं। दुर्घटना तब हुई, जब डम्पर ट्रक ने अपना नियंत्रण खो दिया और गन्ने के खेत में काम करने वाले करीब 20 मजदूरों को चपेट में ले लिया। बारह लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। दो ने बाद में दम तोड़ दिया और छह अन्य अस्पताल में भर्ती हैं। हादसा सूरत से 60 किलोमीटर दूर कोसांबा गांव के पास हुआ।

पुलिस के अनुसार एक डंपर ने भोर में किम-मांडवी सड़क पर प्रवासी गन्ना श्रमिकों को कुचल दिया। इससे पहले डम्पर ने गन्ने से भरे ट्रैक्टर को टक्कर मारी थी। उनमें से 12 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि दो ने अस्पताल पहुंचने से पहले ही दम तोड़ दिया। मरने वालों में सात पुरुष, छह महिलाएं और एक बच्चा है।

घायलों को सूरत के स्मीमेर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घायल चालक और क्लीनर को भी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। डम्पर चालक के अनुसार दुर्घटना स्टीयरिंग-व्हील जाम होने के बाद हुई। जबकि उसे मौके पर पकड़ने वालों का कहना है कि उसने शराब पी रखी थी। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने त्रासदी पर दुख व्यक्त किया और पीड़ित परिवारों को 2-2 लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की।

पुलिस के अनुसार गुजरात के किम-मांडवी रोड पर कोसंबा के पलोडगाम के नज़दीक मध्य रात्रि के आसपास एक तेज़ रफ़्तार डम्पर गन्ना लदे एक ट्रैक्टर-ट्राली से टकराने के बाद असंतुलित होकर मज़दूरों के ऊपर चढ़ गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुर्घटना पर दुःख व्यक्त करते हुए मृतकों के परिजनों को दो- दो लाख और घायलों के लिए 50 हज़ार रुपए की सहायता की घोषणा की है।
गुजरात में डम्पर ने 14 मजदूर ​कुचले, चालक ने पी रखी थी शराब, गन्ने के खेत में मजदूरी करते थे

Leave a comment

Your email address will not be published.