ताकतवर देशों के शासक कर रहे हैं फोन पर बात

नई दिल्ली. भले ही डोनाल्ड ट्रंप अभी तक अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव जीत चुके जो बाइडन के खिलाफ ताल ठोक रहे हों, लेकिन विश्व के ताकतवर देशों ने उन्हें विजेता मान लिया है और उनके शासक बाइडेन को जीत की शुभकामनाएं दे रहे हैं। बाइडेन को फ्रांस, जर्मनी, आयरलैंड और ब्रिटेन के नेताओं ने फोन पर जीत की शुभकामनाएं दी और द्विपक्षीय मुद्दों तथा कोविड-19 जैसी वैश्विक चुनौतियों से मिलकर निपटने के साझा प्रयासों पर चर्चा की।

अमेरिका के आगामी राष्ट्रपति से कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने सबसे पहले बात की। विश्व नेताओं ने हालांकि बाइडन और नवनिर्वाचित उप राष्ट्रपति कमला हैरिस को ट्विटर पर जीत की शुभकामनाएं दी हैं लेकिन बाइडन ने ट्विटर पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

फोन पर बातचीत के दौरान बाइडन ने फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों का बधाई के लिए शुक्रिया अदा किया और फ्रांस-अमेरिका के बीच रिश्ते मजबूत करने की इच्छा जाहिर की। बाइडन-हैरिस सत्ता हस्तांतरण दल के अनुसार बाइडन ने नाटो और यूरोपीय संघ सहित ‘ट्रांस-अटलांटिक’ तथा द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने की इच्छा जताई। जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल से बाइडन ने इस बात पर जोर दिया कि वह अमेरिका और जर्मनी के बीच संबंधों को मजबूत करने और नाटो तथा यूरोपीय संघ सहित ‘ट्रांस-अटलांटिक’ को एक बार फिर मजबूत करने को उत्साहित हैं। बाइडन ने ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन से विशेष संबंध को मजबूत करने तथा साझा चिंता के विषयों पर सहयोग की इच्छा व्यक्त की।
बाइडन ने आयरलैंड के नेता टी. माइकल मार्टिन से भी बात की और अमेरिका तथा आयरलैंड के बीच सांस्कृतिक एवं आर्थिक संबंधों को मजबूत करने की इच्छा जाहिर की।

Leave a comment

Your email address will not be published.